गहलोत सरकार जितनी जल्दी चली जाए, जनता के हक में उतना अच्छा: पूनियां

बीटीपी विधायकों के सरकार को समर्थन पर पूनिया ने कहा कि, सरकार अधरझूल में है और उसे संतुलित कर सके वो आंकड़ा बीटीपी का है.

गहलोत सरकार जितनी जल्दी चली जाए, जनता के हक में उतना अच्छा: पूनियां
सतीश पूनियां ने कहा कि, अभी कोर्ट में मामला चल रहा है.

विष्णु शर्मा/जयपुर: राजस्थान भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि, सरकार अधरझूल में है. उसके पास अभी बहुमत का आंकड़ा नहीं है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के राज्यपाल कलराज मिश्रा (Kalraj Mishra) से मिलने के सवाल पर पूनिया ने कहा कि, बहुमत होगा तो वो साबित कर देंगे, लेकिन कई दिन से लग नहीं रहा कि, उनके पास बहुमत है.

एक अन्य सवाल के जवाब में पूनिया ने कहा कि, बीजेपी की संवैधानिक और कानूनी जो भी भूमिका विपक्ष के नाते रहेगी, उस पर विचार कर रहे हैं. वर्तमान हालात में भारतीय जनता पार्टी के रूख के सवाल पर पूनिया ने कहा कि, फिलहाल तो सरकार जितनी जल्दी चली जाए, उतना जनता के हक में अच्छा है.

सतीश पूनियां ने कहा कि, अभी कोर्ट में मामला चल रहा है. कोर्ट के निर्णय के आधार पर बीजेपी फैसला करेगी कि, क्या करना है. बीटीपी विधायकों के सरकार को समर्थन पर पूनिया ने कहा कि, सरकार अधरझूल में है और उसे संतुलित कर सके वो आंकड़ा बीटीपी (BTP) का है.

उन्होंने कहा कि, बीटीपी विधायक कभी सरकारी कैम्प से भाग जाते हैं, कभी वापस आ जाते हैं. मैं समझता हूं कि, क्षेत्रीय दलों, निर्दलीय विधायकों के बीच अस्थिरता है, ऐसे में अभी बहुमत की स्थिति साफ नहीं है. दरअसल, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गया है. कांग्रेस ने पायलट को डिप्टी सीएम और पीसीसी चीफ पद से हटा दिया है.

वहीं, बीते दिनों ने जारी हुए एक ऑडियो टेप ने राजस्थान में 'सियासी भूचाल' खा दिया है. इस ऑडियो टेप को लेकर कांग्रेस बीजेपी पर आक्रमक हो गई है और पूरी घटना के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रही है. जबकि, बीजेपी ऑडियो टेप सहित राजस्थान के अन्य मामलो की सीबीआई (CBI) जांच की मांग कर रही है.