ऊर्जा और जलदाय मंत्री डॉ. बीडी कल्ला से खास बातचीत, पेयजल से जुड़ी दी ये जानकारी

जलदाय मंत्री डॉ बीडी डी कल्ला का कहना है की गर्मी के सीजन को देखते हुए हमने संभावित कंटीजेंसी प्लान पहले ही तैयार कर लिया था.

ऊर्जा और जलदाय मंत्री डॉ. बीडी कल्ला से खास बातचीत, पेयजल से जुड़ी दी ये जानकारी
जलदाय मंत्री डॉ. बीडी डी कल्ला

जयपुर: गर्मी का सीजन अब असर दिखाने लगा है. लॉक डाउन और कोरोना (Coronavirus) संक्रमण के बीच पेयजल की किल्लत कई इलाकों में गहरा गई है. पीएचईडी विभाग के दफ्तरों में शिकायत के कॉल आने लगे हैं. 

जलदाय मंत्री डॉ. बीडी डी कल्ला का कहना है की गर्मी के सीजन को देखते हुए हमने संभावित कंटीजेंसी प्लान पहले ही तैयार कर लिया था. ऐसे में सरकारी स्तर पर पेयजल उपलब्ध कराने की पूरी तैयारी है. 

पिछले सीजन में बारिश अच्छी हुई थी, ऐसे में बांधों में पानी पर्याप्त है. वहीं अगले मानसून की तैयारियां भी विभाग की ओर से शुरू कर दी गई है. जल संसाधन के विशेष प्रयास किए जाएंगे. जिनमें मनरेगा के जरिए एनीकट की मिट्टी छटाई पर भी फोकस होगा. 

जलदाय मंत्री का कहना है कि लॉक डाउन के चलते राजस्व आय प्रभावित हुई है ऐसे में पेयजल को लेकर बड़े प्लान कुछ समय के लिए रोके जा सकते हैं. लेकिन आम आदमी को पेयजल मुहैया कराने के लिए धन की कोई कमी नहीं होगी. 

ये भी पढ़ें: CM गहलोत पर सांसद का हमला, बोले- मजदूरों से ज्यादा, प्रियंका गांधी की खुशी की चिंता