राजस्थान में महिलाओं से अपराध की घटनाओं पर अंकुश के लिए तैनात होगी खास यूनिट

पुलिस महानिदेशक के निर्देशानुसार बारां पुलिस की ओर से भी इस मुहिम की शुरुआत की जाएगी. इससे शहर में बालिकाओं और महिलाओं से छेड़छाड़ की घटनाएं रोकने में मदद मिलेगी

राजस्थान में महिलाओं से अपराध की घटनाओं पर अंकुश के लिए तैनात होगी खास यूनिट
इससे महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों पर अंकुश लग सकेगा

बारां: प्रदेश के बारां शहर में अब मनचलों की खैर नहीं है. जयपुर, उदयपुर, कोटा की तर्जपर अब बारां मुख्यालय पर भी लेडी पेट्रोलिंग यूनिट तैनात की जा रही है.  महिला पुलिसकर्मी पुलिस विभाग की ओर की ओर से दी गई स्कूटी व बाइक से शहरभर में गश्त करेगी. छेड़छाड़ आदि घटनाओं की सूचना मिलने के बाद 5 मिनट में ही पीड़िता के पास पहुंच जाएंगी. इसके लिए इन्हें स्कूटी, एंड्रॉयड मोबाइल और वायरलैस सेट भी मिलेंगे.

पुलिस महानिदेशक के निर्देशानुसार बारां पुलिस की ओर से भी इस मुहिम की शुरुआत की जाएगी. इससे शहर में बालिकाओं और महिलाओं से छेड़छाड़ की घटनाएं रोकने में मदद मिलेगी. इनकी ड्यूटी दो पारियों में रहेगी. निर्देश के अनुसार एक स्कूटी पर दो महिला कांस्टेबल रहेंगी. इस तरह 4 स्कूटी पर 8 महिला कांस्टेबल मौजूद रहेंगी. इसके लिए महिला कांस्टेबलों को जिम्मेदारी दे दी गई है. यह दो पारियों में ड्यूटी पर रहेंगी, सुबह 8 से 2 बजे तक और दोपहर 2 से रात 8 बजे तक. 

पुलिस महानिदेशक के अनुसार अभय कमांड सेंटर, कंट्रोल रूम या फिर थाने से सूचना मिलने पर यह स्क्वॉयड मौके पर केवल 5 मिनट में पहुंचेगी. यूपी की एंटी रोमियो स्क्वायड की तर्ज पर प्रदेश में की शुरुआत प्रथम चरण में शहर में इस यूनिट के लिए चार गाड़ियां दी गई हैं. उत्तर प्रदेश की एंटी रोमियो स्क्वायड के बाद राजस्थान में भी इस यूनिट की शुरुआत की गई है. चयनितों का पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण दिया गया है. इस पेट्रोलिंग यूनिट का नोडल अधिकारी वृत्ताधिकारी सुरेंद्र दानोदिया तथा प्रशासनिक नियंत्रक यातायात प्रभारी आशा सिंह बारहठ को बनाया गया है, जिससे महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों पर अंकुश लग सकेगा.

यातायात प्रभारी आशा सिंह बारहठ ने बताया कि शहर में महिलाओं व बालिकाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ व मनचलों की रोकथाम को लेकर विशेष कार्ययोजना के तहत कार्यकिया जाएगा. ऐसे में शहर में महिलाओं व छात्राओं की सुरक्षा व उनके साथ होने वाली घटनाओं की रोकथाम को लेकर लेडी पेट्रोलिंग यूनिट का गठन किया है. इसके लिए 3 स्कूटी व एक बाइक मिल गई है.साथ ही एंड्रॉयड मोबाइल और वायरलैस सैट भी मिलेंगे. प्रत्येक गाड़ी पर दो महिला कांस्टेबल तैनात रहकर दो पारियों में गश्त करेंगी. यह दल शहर के प्रमुख बाजारों, भीड़ वाली जगहों पर गश्त करेगी. महिला कांस्टेबलों को गश्त के लिए क्षेत्रों का आवंटन कर दिया जायेगा.