Sri Ganganagar: देवर ने गोली मारकर की गर्भवती की हत्या, लोगों ने उठाई न्याय की मांग

पुलिस थाना के मुख्य द्वार पर संतरी के रोकने के बावजूद सभी लोग पुलिस थाना परिसर में घुस गए तथा पुलिस के खिलाफ नारेबाजी तथा प्रदर्शन किया. 

Sri Ganganagar: देवर ने गोली मारकर की गर्भवती की हत्या, लोगों ने उठाई न्याय की मांग
रोष के बाद सभी ने कैंडल मार्च को पुलिस थाने ले जाकर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया.
Play

Sri Ganganagar: श्रीगंगानगर के वार्ड नंबर 52 में 7 मार्च रविवार को अपने ही देवर ही के हाथों मारी गई गर्भवती महिला पल्लवी (Pallavi) के हत्या करने तथा हत्या की साजिश रचने वाले सभी आरोपियों को गिरफ्तार (Arrest) करने की मांग को लेकर अनूपगढ़ (Anupgarh) में गहमा-गहमी का माहौल बना रहा. 

यह भी पढ़ें- Hanumangarh News: दो बहनों से एक साल तक लगातार दुष्कर्म, School Teacher को बताई आपबीती

उक्त मामले में व्यापार मंडल में बैठक, शाम को रोष मार्च निकाल कर उपखंड अधिकारी तथा पुलिस उपाधीक्षक को ज्ञापन देने के बाद शाम को कैंडल मार्च का आयोजन किया गया. सोशल मीडिया में कैंडल मार्च के आह्वान मात्र से सैंकड़ों लोग एकत्रित हो गए. लगभग पांच सौ से 6 सौ की संख्या में महिलाओं ने घरों से निकलकर कैंडल मार्च में भाग लेते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को दोहराया. महिला पुरुषों की बढ़ती हुई संख्या तथा रोष के बाद सभी ने कैंडल मार्च को पुलिस थाने ले जाकर प्रदर्शन करने का निर्णय लिया. 

पुलिस थाना के मुख्य द्वार पर संतरी के रोकने के बावजूद सभी लोग पुलिस थाना परिसर में घुस गए तथा पुलिस के खिलाफ नारेबाजी तथा प्रदर्शन किया. इस अवसर पर मौजूद पालिका अध्यक्ष प्रियंका बैलान, उपाध्यक्ष सतपाल मुंजाल, पल्लवी के चाचा पवन मिड्ढा सहित अन्य ने थानाधिकारी के समक्ष रोष व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस की तरफ से मामले को दबाने की कोशिश की जा रही हैं, जिसे कतई बर्दाशत नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आज यह प्रदर्शन अनूपगढ़ कस्बे में हुआ है, आरोपी गिरफ्तार नहीं हुए तो पूरे जिले में पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन होगा. 

यह भी पढ़ें- रात को Ahemdabad से Dungarpur लौटा प्रेमी जोड़ा, सुबह दोनों की मिली लाश

क्या बोली पुलिस
थानाधिकारी ने कहा कि आपकी मांग को जिला पुलिस अधीक्षक को पहुंचा दिया जाएगा. जिस पर उपस्थित लोगों ने प्रदर्शन जारी रखा, जिसके बाद थानाधिकारी के रोष प्रदर्शन की पूरी जानकारी एसपी कार्यालय तक पहुंचाने की बात कही, जिसके लोग बाद लोग शांत हुए. थानाधिकारी के रोष प्रदर्शन की रिपोर्ट को एसपी कार्यालय पहुंचाने के बाद लोग पुलिस थाना से गए.

कुएं के पास स्थित शिव मंदिर से शुरु हुआ रोष मार्च
इससे पूर्व शाम लगभग साढ़े 6 बजे कुएं के पास स्थित शिव मंदिर के पास से कैंडल मार्च शुरु हुआ. जहां लोगों ने कहा कि पल्लवी को श्रद्धांजलि देने के लिए कैंडल मार्च का आयोजन अवश्य किया जा रहा है, लेकिन पल्लवी की हत्या करने वाले तथा उसकी हत्या की साजिश में शामिल सभी लोगों की गिरफ्तारी ही पल्लवी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी. उन्होंने कहा कि हत्यारों ने अकेले पल्लवी की ही नहीं, 5 माह से उसकी गर्भ में पल रहे बच्चे की भी जघन्य हत्या की है. इसके अलावा आरोपियों की तरफ से साक्ष्य मिटाने के भी प्रयास किए गए तथा एक आरोपी पल्लवी का देवर उस पर गोली चलाकर मौके से फरार हो गया. 

व्यापार मंडल अध्यक्ष मोहित छाबड़ा ने पल्लवी के हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग की हैं. लोगों ने पुलिस के कार्रवाई नहीं करने पर पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय का बेमियादी घेराव करना चाहिए. कस्बे के लोगों में पुलिस पर मामले को दबाने के आरोप लगाने के कारण पुलिस की कार्रवाई के प्रति रोष देखा जा रहा हैं. कैंडल मार्च शिव मंदिर के पास से शुरु होकर कस्बे की विभिन्न गलियों से होता हुआ पुलिस थाने में प्रदर्शन करने के बाद समाप्त हुआ.

क्या है मामला
पल्लवी पुत्री हेमराज मिड्ढा (Hemraj Middha) निवासी अनूपगढ़ के वार्ड नंबर 26 का विवाह 17 मई 2020 को श्रीगंगानगर के जवाहर नगर थाना क्षेत्र में हाउसिंग बोर्ड में रविदास मंदिर के पास वार्ड नंबर 52 निवासी अंशुल छाबड़ा पुत्र श्यामसुंदर से हुआ था. शनिवार 6 मार्च रात्रि को पल्लवी को उसके ससुराल वालों ने प्रताडित करने की साजिश रची तथा रविवार सुबह दस बजे उसकी सास दोनों देवर,पारस तथा एक अन्य व्यक्ति घर पर मौजूद थे. सुबह आरोपियों ने साजिश के तहत घर में आकर पल्लवी की गोली मार कर हत्या कर दी. वहीं पल्लवी पांच माह से गर्भवती थी. इस मामले में बैठक में मौजूद श्रीगंगानगर से आए अधिवक्ता मनीष कुमार ने कहा कि पुलिस की तरफ से इस साजिश को दुर्घटना में तब्दील किए जाने का प्रयास किया जा रहा हैं,सबसे पहले जिला पुलिस अधीक्षक से मिलकर इस मामले के अनुसंधान अधिकारी को बदलवाना चाहिए.