नल के पुराने पाइप से कट्टा बनाने वाला सप्लायर गिरफ्तार, बोला- खानदानी काम है

SOG टीम के जवानों ने इसके इलाके में जाकर 4 दिनों तक भेष बदल कर रेकी की. इसके बाद बहादुर सिंह को उसके गांव बड़ियानी, मध्यप्रदेश से दबोच लिया.   

नल के पुराने पाइप से कट्टा बनाने वाला सप्लायर गिरफ्तार, बोला- खानदानी काम है
बदमाश बहादुर सिंह बेहद शातिर था. ये अक्सर पुलिस से बच कर निकल जाता था.

केके शर्मा, कोटा: जिले की SOG (Special Operations Group) टीम को उस समय बड़ी कामयाबी मिली, जब एक अन्तर्राज्यीय हथियार सप्लायर टीम के हत्थे चढ़ गया. आतंक का पर्याय बन चुका ये बदमाश न केवल राजस्थान बल्कि कई अन्य राज्यों में देशी पिस्टल, कट्टे और हस्त निर्मित कारतूस बनाकर सप्लाई करता था. से हथियार हत्या, लूट जैसी घटनाओं में बदमाशों द्वारा काम में लिए जाते थे.

कोटा SOG के एडिशनल एसपी आलोक सिंघल के अनुसार, पिछले काफी समय से SOG को राजस्थान में हथियार सप्लाई करने वाले बदमाश बहादुर सिंह उर्फ सरदार की सूचनाएं मिल रही थीं लेकिन ये बदमाश बहादुर सिंह बेहद शातिर था. ये अक्सर पुलिस से बच कर निकल जाता था.
इस पर SOG के अतिरिक्त महानिदेशक अनिल पालीवाल के निर्देश पर कोटा SOG की टीम ने इसे पकड़ने के लिए योजना बनाई. SOG टीम के जवानों ने इसके इलाके में जाकर 4 दिनों तक भेष बदल कर रेकी की. इसके बाद बहादुर सिंह को उसके गांव बड़ियानी, मध्यप्रदेश से दबोच लिया. 

20-25 हजार के कट्टे केवल 2000 रुपये में
SOG कोटा के एडिशनल एसपी आलोक सिंघल के अनुसार, पकड़े गए बदमाश बहादुर सिंह लगभग 20 वर्षों से इस धंधे में लिप्त हैं, जो कि पुराना हिस्ट्रीशीटर भी रहा है. इस पर लगभग 8 प्रकरण दर्ज हैं, जिनमें से 5 प्रकरण आर्म्स एक्ट में दर्ज हैं. पूछताछ में सरदार ने बेहद चौंकाने वाले खुलासा करते हुए बताया कि वह नल के पुराने पाइप और स्क्रैप से देशी कट्टा बनाता है और कारतूस भी वह खुद बनाता आया है. ये उसका खानदानी काम है. अब तक वह 500 से ज्यादा देशी कट्टे बनाकर बेच चुका है. इसके लिए वह प्रति हथियार 2 हजार से 2500 रुपये तक लेता था जो कि बाजार में 20 से 25 हजार तक बिकते हैं.

गहनता से की जा रही जांच
फिलहाल SOG की टीम पकड़े गए बदमाश बहादुर सिंह उर्फ सरदार से पूछताछ में जुटी हुई है कि राजस्थान में वह किस-किस को हथियार देता था. हथियारों की तस्करी में कौन-कौन उसका साथी था? साथ ही राजस्थान के अलावा देश में कहां-कहां उसका नेटवर्क था? इन तमाम जानकारियों के लिए SOG की टीम बदमाश से गहनता से पूछताछ में जुटी हुई है. SOG टीम को उम्मीद है कि पूछताछ में अवैध हथियार सप्लायर और तस्करों के कुछ और बड़े नेटवर्क का खुलासा हो सकता है.