बारां: मौलवी को गिरफ्तार कर लाई पुलिस पर लोगों ने बरसाए पत्थर, इलाके में तनाव

एकाएक हुए पथराव की इस घटना के समय थाने में कुछ ही पुलिसकर्मी मौजूद थे, जिससे उन्हें बचाव का समय और मौका नहीं मिला.

बारां: मौलवी को गिरफ्तार कर लाई पुलिस पर लोगों ने बरसाए पत्थर, इलाके में तनाव
अचानक भीड़ ने थाने पर जमकर पथराव शुरू कर दिया.

राम मेहता, बारां: शहर में कुछ दिनों से दो पक्षों में चल रहा विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है. शहर में किसी लड़ाई-झगड़े के मामले में कोतवाली पुलिस द्वारा किसी मामले को लेकर एक मौलवी को कोतवाली पुलिस हिरासत में लेकर आई. इसके बाद तीन सौ से अधिक एक समुदाय के लोग कोतवाली के अंदर घुस गए और पत्थरों से हमला कर दिया.

इस दौरान पुलिस के आधा दर्जन जवानों के साथ डीएसपी महावीर शर्मा, एएसआई भरत सिंह भी घायल हो गए, वहीं, बाद में मौके पर असामाजिक तत्व दर्जनों से अधिक बाइक छोड़कर फरार हो गए. इस दौरान पुलिस एक दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है. सूचना मिलने पर एडीएम अबुबक्र भी कोतवाली पहुंचे और घटना का जानकारी ली. इस दौरान शहर में तनाव की स्थिति बनी हुई है.

दरअसल, देर शुक्रवार देर रात कोतवाली थाना पुलिस राठी परिवार के साथ मारपीट के पुराने मामले में एक आरोपी को पकड़कर थाने ले आई. आरोपी के पुलिस द्वारा उठाए जाने की सूचना पर थाने के पास ही मौजूद इलाके से विशेष समुदाय के सैकड़ों लोग थाने पर जमा हो गए. उसके बाद अचानक भीड़ ने थाने पर जमकर पथराव शुरू कर दिया. 

एकाएक हुए पथराव की इस घटना के समय थाने में कुछ ही पुलिसकर्मी मौजूद थे, जिससे उन्हें बचाव का समय और मौका नहीं मिला. अचानक हुए पथराव में थाने में खड़ी पुलिस जीप सहित दर्जनों दुपहिया वाहन क्षतिग्रस्त हो गए. घटना की सूचना मिलते ही पुलिस की रैपिड एक्शन टीम और आरएसी के जवान मौके पर पहुंचे और लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर-बितर करने लगे.

हमलावर पुलिसकर्मियों पर पथराव करते रहे
इस दौरान भी हमलावर पुलिसकर्मियों पर पथराव करते रहे. हमले में पुलिस उपाधीक्षक महावीर शर्मा और कोतवाली थाने के एएसआई भरत सिंह के अलावा आधा दर्जन पुलिसकर्मियों के चोटें आईं. मामला बढ़ता देख पुलिस को पंप एक्शन गन चलानी पड़ी, जिसके बाद हमलावर मस्जिदों में घुस गए और वहां से भी छुटपुट पत्थरबाजी करते रहे. 

घटना को सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक डॉ. रवि ने पुलिस लाइन से भारी जाब्ता क्षेत्र में तैनात कर दिया. वहीं, जिला कलेक्टर इंद्र सिंह राव ने अतिरिक्त जिला कलेक्टर अबूबक्र को मौके पर भेजा. पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीम रात भर इलाकों में पैदल मार्च करती रही.