close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान यूनिवर्सिटी में छात्रों ने शुरू की भूख हड़ताल, प्रशासन को दी यह चेतावनी

भूख हड़ताल पर बैठे छात्र ने कहा कि दो दिन हो गए हैं भूख हड़ताल पर लेकिन अभी तक भी ना तो विवि प्रशासन और ना ही कॉलेज प्रशासन ने वार्ता की है.

राजस्थान यूनिवर्सिटी में छात्रों ने शुरू की भूख हड़ताल, प्रशासन को दी यह चेतावनी
राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्र विभिन्न मांगों को लेकर भूख हड़तान पर बैठे हैं.

जयपुर: पिछले कुछ दिनों से राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्र विभिन्न मांगों को लेकर धरने और प्रदर्शन पर उतरे हुए हैं. इन मांगों को पूरा करने को लेकर कई बार विवि प्रशासन और कॉलेज प्रशासन को ज्ञापन पर भी सौंप चुके हैं, लेकिन मांगों को पूरा नहीं होने के चलते अब कॉलेज के 6 छात्र भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं.

राजस्थान यूनिवर्सिटी के मुख्य गेट पर शुरू की गई इस भूख हड़ताल में बैठे छात्रों ने आरोप लगाया कि जब भी मांगों को लेकर विवि के पास जाते हैं तो वो कॉलेज का मामला बताते हैं. जब कॉलेज प्रशासन के पास जाते हैं तो वो विवि प्रशासन का मामला बताते हैं. ऐसे में आखिरकार हमने विवि के गेट पर भूख हड़ताल का रास्ता अपनाया.

भूख हड़ताल पर बैठे छात्र ने कहा कि दो दिन हो गए हैं भूख हड़ताल पर लेकिन अभी तक भी ना तो विवि प्रशासन और ना ही कॉलेज प्रशासन ने वार्ता की है. साथ ही छात्रों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होगी उनका आंदोलन जारी रहेगा.

वहीं मागों की बात करें तो राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्र एसएफएस और बीपीएल कार्ड ,आय प्रमाण पत्र संलग्न करने वाले और दिव्यांग छात्रों को फीस में छूट देने की मांग कर रहे है. साथ ही महाविद्यालय में निशुल्क आईएएस और आरएएस की कक्षाओं का नियमित आयोजन को लेकर भी छात्रों ने मांग की है. 

साथ ही समाज कल्याण द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति कॉलेज से आ रही त्रुटि को सही किए जाने को लेकर भी छात्रों ने मांग की है. वहीं भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों ने टीचर्स की बायोमैट्रीक हाजरी लगाने की बात की ताकि शिक्षक कक्षाएं सुचारू रूप से लेगें.  वहीं महाविद्यालय में जिम्मेदार प्रशासन की ओर पानी की उत्तम व्यवस्थाएं और राजस्थान यूनिवर्सिटी में पैरा स्पोर्ट्स शुरू करने की मांग की है. साथ ही छात्रों ने इसके लिए  अलग से कोटा दिए जाने का मांग भी की है.