close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्‍तान की तरफ से सीमावर्ती भारतीय गांवों में आ रही ये 'आफत', किसान हो गए हैं परेशान

पिछले तीन महीनों से पाकिस्तान की सीमा के पास स्थित सरहदी जिले जैसलमेर और बाड़मेर के किसान टिड्डियों के आतंक से परेशान हैं.

पाकिस्‍तान की तरफ से सीमावर्ती भारतीय गांवों में आ रही ये 'आफत', किसान हो गए हैं परेशान
प्रशासन कीटनाशकों का लगातार छिड़काव कर रही है. (फाइल फोटो)

मनीष रामदेव, जैसलमेर: भारत पाकिस्तान सीमा से सटे सरहदी जिले जैसलमेर में पाकिस्तान से आ रहे टिड्डी दलों के कारण किसान अपनी फसल की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. इससे निपटने के लिए जिला प्रशासन और प्रदेश सरकार के किए प्रबंध नाकाफी साबित हो रहे हैं.

जिला प्रशासन इस समस्या से निपटने के लिए कीटनाशकों का लगातार छिड़काव कर रही है. इससे भी पाकिस्तानी टिड्डियों पर रोकथाम नहीं लगाई जा पा रही है. लेकिन जैसलमेर जिले के किसानों ने इस समस्या से निपटने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया है. जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे.

थालियां बजा रहे हैं जैसलमेर के किसान
स्थानीय किसान अपने खेतों में थालियां सहित अन्य ध्वनी करने वाले यंत्रों को बजाकर टिड्डियों को भगाने का प्रयास कर रहे है. इस दौरान बड़ी संख्या में किसान एक समूह बनाकर खेतों में निकल रहे हैं और थालियों के अलावा अन्य वाद्य यंत्र बजाकर टिड्डियों को खेतों से भगाने का प्रयास कर रहे हैं. 

बढ़ी है किसानों की परेशानी
प्रतिरक्षा एवं नियंत्रण विभाग और कृषि विभाग के संयुक्त तत्वावधान में एक पखवाड़े तक लाठी, भादरिया, फिल्ड फायरिंग रेंज, सोढ़ाकोर, सोजिया की ढाणी क्षेत्र में टिड्डियों पर नियंत्रण किया गया. फिर भी कई जगहों पर बड़ी टिड्डियों के दल अभी भी देखे जा सकते हैं. इसके अलावा क्षेत्र के भादरिया गांव में टिड्डी दल से उत्पन्न हुएं फाका दल लगातार तेरहवें दिन भी अपना डेरा जमाए हुए हैं.

लाइव टीवी देखें-:

किसानों की बढ़ गई है चिंता 
नलकूप बाहुल्य क्षेत्र में विभिन्न प्रकार की फसलों की बुवाई चल रही है. ऐसे में टिड्डी दल के आ जाने से किसानों की चिंता बढ़ गई है. टिड्डी दल की संख्या अधिक होने की स्थिति में इस पर नियंत्रण के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं. इस दौरान बड़ी संख्या में इन्होंने फसलों, घास और वनस्पतियों को नष्ट किया है.

टिड्डी दलों ने डाल रखा है पड़ाव
खबर के अनुसार, जिले के लाठी क्षेत्र में पिछले डेढ़ महीने से टिड्डियों का आतंक जारी है. टिड्डियों ने पहले से भादरिया, टावरी का वाला, फिल्ड फायरिंग रेंज क्षेत्र में बड़ी संख्या में टिड्डी दलों ने अपना पड़ाव डाल रखा है. इस दौरान लगातार कीटनाशक का छिड़काव कर इस पर नियंत्रित करने का प्रयास भी किया जा रहा है.