करदाताओं को ITR भरने के लिये मिली आंशिक राहत, अब अंतिम तिथि 10 जनवरी

वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने आयकर रिटर्न फाइल (ITR) करने की तारीख को एक बार फिर से बढ़ाया है, लेकिन कर सलाहकार संगठनों ने कुछ दिन की दी गई मोहलत को लेकर नाराजगी जताई है. 

करदाताओं को ITR भरने के लिये मिली आंशिक राहत, अब अंतिम तिथि 10 जनवरी
फाइल फोटो

जयपुर: वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने आयकर रिटर्न फाइल (ITR) करने की तारीख को एक बार फिर से बढ़ाया है, लेकिन कर सलाहकार संगठनों ने कुछ दिन की दी गई मोहलत को लेकर नाराजगी जताई है. उनका कहना है कि कोविड (Covid 19) को देखते हुए यह तारीख 31 मार्च 2021 होनी चाहिए. केंद्र सरकार ने व्यक्तिगत आयकरदाताओं (Taxpayers) के लिए वित्त वर्ष 2019-20 के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 10 जनवरी, 2021 तक कर दिया है. वहीं, कंपनियों के लिए रिटर्न दाखिल करने की समयसीमा को भी 15 दिन बढ़ाकर 15 जनवरी कर दिया गया है. पहले 31 दिसंबर आईटीआर फाइल करने की अंतिम तिथि थी.

इनकम टैक्स एक्ट, 1961 की धारा 139(1) के अनुसार, कोई भी व्यक्ति जिसकी कुल कमाई वित्तीय वर्ष में टैक्स के दायरे में आती है उसे ITR फाइल करना होता है. इनकम टैक्स रिटर्न भरने का मतलब सरकार को अपनी आमदनी-निवेश और खर्च की जानकारी देना है. आईटीआर भरने के बाद अगर आप पर टैक्स देनदारी बनती है तो आपको टैक्स चुकाना पड़ता है. व्यक्तिगत आईटीआर ऑडिट के दायरे में सीधे तौर पर नहीं होती, लेकिन फर्मों, कंपनियों और एनजीओ की आईटीआर ऑडिट के दायरे में होती है. 

आयकर विभाग ने कोरोना संक्रमण के दौरान बीते वित्त वर्ष में आईटीआर भरने की अवधि में एक बार फिर से इजाफा किया है, व्यकतिगत आईटीआर में 10 दिन और कंपनी आईटीआर में 15 दिन अवधि बढ़ाई गई. प्रदेश के कर सलाहकार इससे संतुष्ट नहीं है और कोर्ट में जाने की तैयारी में है. राजस्थान कर सलाहकार संघ का कहना है की कई चाटे्ड अकाउंटेंट और कर व्यवहारी कोरोना की चपेट में है. ऐसे में 14 दिन का समय क्वारेंटीन का ही है. कई कर व्यवहारी कोरेाना के चलते सीए से सीधी मुलाकात नहीं कर पा रहे है, इसके चलते ऑडिट रिपोर्ट तैयार करने में परेशानी है. 

विभाग को यह अवधि 31 मार्च 2021 तक करनी चाहिए, ताकि सभी करदाता अपनी कर विवरणिका जमा करवाकर टैक्स पेनल्टी से बच सकें. देश में वर्ष 2018 में 6 करोड 77 लाख आईटीआर भरी गई थी अब कि बार 4 करोड़ 64 लाख आईटीआर भरी गई है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan में इस बार Corona की वजह से New year 2021 का आगाज रहेगा फीका