माइनस 1 डिग्री पहुंचा Mount Abu का तापमान, मैदानों में जमी नजर आईं बर्फ की परतें

गुरुवार को माउंट आबू (Mount Abu) का न्यूनतम तापमान माइनस 1 डिग्री तक लुढ़क गया. 

माइनस 1 डिग्री पहुंचा Mount Abu का तापमान, मैदानों में जमी नजर आईं बर्फ की परतें
प्रतीकात्मक तस्वीर.

साकेत गोयल, सिरोही: राजस्थान (Rajasthan) का शिमला (Shimla) कहा जाने वाला माउंट आबू (Mount Abu) इन दिनों वाकई में शिमला (Shimla) बना हुआ है, यहां पर तेज सर्दी ने जहां आम जनजीवन को प्रभावित किया है, वहीं, दूसरी तरफ पर्यटक (Tourist) इस सर्दी का खासा आनंद भी ले रहे हैं.

यह भी पढ़ें- Rajasthan के Mount Abu में प्रचंड हुई ठंड, जमाव बिंदु के करीब पहुंचा पारा

 

देशभर में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है, लगभग यही हाल राजस्थान (Rajasthan) के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू (Mount Abu) का भी है. गुरुवार को माउंट आबू (Mount Abu) का न्यूनतम तापमान माइनस 1 डिग्री तक लुढ़क गया. इस प्रकार से देखा जाए तो यहां पर एक साथ 2 पॉइंट 6 डिग्री की गिरावट न्यूनतम तापमान में दर्ज हुई है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan में ठंड से छूटी लोगों की कंपकंपी, इन 8 जिलों के तापमान में भारी गिरावट दर्ज

तापमापी में लगातार गोते लगा रहे पारे के कारण यहां पर न्यूनतम तापमान माइनस 1 डिग्री पर जा पहुंचा. इसी कारण गुरुवार को घास के मैदानों पर सफेद ओस की बूंदें जमी हुई दिखाई दीं तो खेतों में खड़ी हुई फसलों और हरी सब्जियों की पौध पर सफेद बर्फ़ जमती हुई दिखाई दी. यहां तक घरों के बाहर खड़े वाहनों की बात है तो उनकी छत के ऊपर बर्फ की मोटी परतें जमी नजर आईं.

न्यूनतम तापमान माइनस -1 डिग्री पर लुढ़क जाने से माउंट आबू का पोलो ग्राउंड तो ऐसा लग रहा था जैसे बर्फ के पूरे भंडार यहां भर चुके हैं. चारों ओर कोहरा ही कोहरा और सफेद बर्फ की चादर नजर आ रही थी. वहीं पर बात की जाए यहां पर आने वाले सैलानियों की तो उन्हें बड़ा मजा आ रहा है. वे यहां के मौसम का जमकर लुत्फ उठा रहे हैं.

न्यूनतम तापमान माइनस -1 पर जाने के कारण शहर की दिनचर्या वैसे ही देर से प्रारंभ हुई. जो दुकानदार अल सुबह अपनी रोजी रोटी के लिए आते हैं, वो भी आज अलाव तापते हुए नजर आए. वैसे इन दिनों में पूरे माउंट आबू का आलम यह हो चुका है कि सुबह-सुबह लोग अलाव ताप कर ही अपनी आजीविका को शुरू करने की हिम्मत जुटा पाते हैं. देर शाम होते ही फिर से अलाव जलने लगते हैं.