close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झालावाड़ शहर में आवारा पशुओं का आतंक जारी, नगरपरिषद प्रशासन बना मुकदर्शक

झालावाड़ शहर का सिटी फोरलेन यमराज का आशियाना बनता दिख रहा है. यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए बना सड़क आवारा पशुओं का आशियाना बन गया है.

झालावाड़ शहर में आवारा पशुओं का आतंक जारी, नगरपरिषद प्रशासन बना मुकदर्शक
आम नागरिक लगातार हादसों का शिकार हो रहे हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

झालावाड़: झालावाड़ शहर का सिटी फोरलेन यमराज का आशियाना बनता दिख रहा है. यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए बना सड़क आवारा पशुओं का आशियाना बन गया है.

आपको बता दें कि शहर में सिटी फोरलेन कोभारी भरकम बजट से पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कार्यकाल में बनवाया गया था. सिटी फॉरलेन के निर्माण के बाद से ही शहर के नागरिकों की सुविधा भी बढ़ी. इसका निर्माण कार्य पूरा होने के बाद सड़क दुर्घटनाओं पर भी अंकुश लगा है.

लेकिन सिटी फोरलेन के दौरान मामा भांजा चौराहा और जिला चिकित्सालय के सामने के हालात काफी बदतर नजर आते हैं. इन दोनों जगहों पर आवारा सांड और मवेशियों ने अपना आशियाना बना लिया है. जिस कारण वाहनों और राहगीरों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

लाइव टीवी देखें-:

इसके अलावा जुड़वा शहर झालरापाटन की भी हालात बदतर है. आवारा मवेशियों खासतौर से आवारा सांड ने तो बीते 1 वर्ष में आधा दर्जन से अधिक लोगों की हमला कर जान ले ली है.

इस तरह की घटनाए बढ़ने के बावजूद आम नागरिक लगातार हादसों का शिकार हो रहे हैं. जिसके बाद शहर के नागरिकों ने नगर पालिका और नगर परिषद में प्रदर्शन भी किया. लेकिन इसपर रोकथाम के लिए अधिकारियों ने कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया.