close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा की सड़कों पर कचरे ने किया लोगों का जीना मुहाल, प्रशासन बेखबर

गंदगी के ढ़ेरों के कारण यहां से गुजरने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

कोटा की सड़कों पर कचरे ने किया लोगों का जीना मुहाल, प्रशासन बेखबर
कचरे से आने वाले सड़ांध के कारण लोग बेहाल हैं.

राम मेहता/बारां: कोटा संभाग के बारां शहर में जगह-जगह गंदगी के ढ़ेर परेशानी का कारण बने हुए हैं. कासकर मांगरोल रोड मेगा हाइवे के किनारे लगे गंदगी के ढ़ेर और यहां से आने वाली बदबू ने यहां से गुजरने वाले लोगों का जीना मुहाल क दिया है.

बारां नगर परिषद द्वारा शहर का कचरा, कचरा प्वाइंट में न डालकर मांगरोल रोड़ पर मेगा हाइवे के किनारे डाल दिया जाता है, जिससें शहर के लोगों और मांगरोल रोड़ से गुजरने वाले लोग बेहाल है. सड़क के किनारों पर गंदगी के बड़े-बड़े ढेर लगे हुए हैं. यहां से गुजरने वाले लोग अकसर मुंह पर कपड़ा लगाकर कर यहां से गुजर पाते हैं. गंदगी के ढेरों पर मक्खी, मच्छरों की भरमार होती है जिस कारण भयानक बीमारी फैलने का भय बना रहता है.

वहीं, गंदगी के ढेरों के कारण यहां से गुजरने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है. इन ढेरों पर आवारा व खूंखार कुत्ते भी अकसर घूमते रहते हैं तथा अपना भोजन तलाश करते हैं. वहीं मृत मवेशी भी यहीं पड़े रहते है, जिससें बीमारीयां फैलने की अंदेशा बना रहता है.

मांगरोल रोड़ निवासी मोरपाल सुमन और अन्य लोगों का कहना है कि कई बार नगर परिषद में शिकायत कर शहर के कचरें को कचरा प्वाइंट में डालने की मांग कर चुके हैं. लेकिन नगर परिषद के कर्मचारी भी शहर का कचरा मांगरोल रोड पर डाल रहें है जिससें क्षेत्र में रहने वाले लोगो ओर यहां से गुजरने वाले लोगों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है.

वहीं कचरे से आने वाले सड़ांध के कारण लोग बेहाल हैं, लेकिन नगर परिषद कोई ध्यान नहीं देती है. लोगों की मांग की है कि जल्द से जल्द इन गंदगी के ढेरों को यहां से हटाया जाए जिससे आम लोगों को राहत की सांस मिल सके.