close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: आतंकवाद विरोधी दिवस पर स्कूल-कॉलेज बंद, गृह मंत्रालय की गाइड लाइन बनी खानापूर्ति

राज्य सरकार ने इसके लिए कोई तैयारी नहीं की है. जिस कारण यह महज खानापूर्ति ही साबित हो रहा है.

राजस्थान: आतंकवाद विरोधी दिवस पर स्कूल-कॉलेज बंद, गृह मंत्रालय की गाइड लाइन बनी खानापूर्ति
हर साल 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है. (फाइल फोटो)

बिष्णु शर्मा, जयपुर: राजस्थान सहित पूरे देश में 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाएगा. जिसके लिए गृह मंत्रालय ने गाइड लाइन जारी की है. गाइड लाइन के अनुसार स्कूल, कॉलेज से लेकर विश्वविद्यालय और सरकारी संस्थानों तथा आमजन में आतंकवाद के विरोध में जन-जागरण करना है. लेकिन राज्य सरकार ने इसके लिए कोई तैयारी नहीं की है. जिस कारण यह महज खानापूर्ति ही साबित हो रहा है.  

जानकारी के अनुसार, हर साल 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मनाया जाता है. जिसके लिए गृहमंत्रालय में संयुक्त सचिव एस.के शाही ने एक मई को गाइड लाइन जारी किया था. जिसमें राज्य के मुख्य सचिवों को आतंकवाद दिवस मनाने का निर्देश दिया गया है. लेकिन सरकारी स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में अवकाश के कारण किसी भी कार्यक्रम का आयोजन संभव नहीं है.

गाइडलाइन में राज्य के सभी स्कूल, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में विविध आयोजन करने की बात कही गई है. जिसमें सरकारी, गैर सरकारी संस्थानों के साथ ही आमजन में आतंकवाद के खिलाफ जन जागरण का प्रचार प्रसार करने का निर्देश दिया गया है. जिसके लिए स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालयों में वाद विवाद चर्चा, आतंकवाद व हिंसा के खतरों के संबंध में परिचर्चा ,सेमीनार, व्याख्यान आदि आयोजित करने के निर्देश दिए गए है. 

इसके साथ ही पोस्टर पैम्फलेट लगाने सहित आकाशवाणी, दूरदर्शन के माध्यम से उचित अभिव्यक्ति प्रस्तुत, करने, प्रिंट व इलेक्ट्रोनिक मीडिया पर प्रमुख फिल्मी हस्तियों व अन्य गणमान्य लोगों के जरिए आतंक के कुप्रभावों पर जन शिक्षा कार्यकम, खेल, फिल्मों के प्रसारण किया जाए. साथ ही हिंसा व आतंकवाद के विरोध में आकर्षक नारे लिखी टी शर्ट के वितरण के निर्देश दिए गए हैं. 

मकसद से दूर रहेगा आयोजन
गृहमंत्रालय ने इस आयोजनों का मकसद आम लोगों खासकर युवाओं में आतंकवाद के विरोध में जागृति लाना है. प्रदेश के सरकारी स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों में अवकाश चल रहा है. ऐसे में यह आयोजन होना संभव नहीं होगा. 

सिर्फ शपथ ले पाएंगे कर्मचारी
गृहमंत्रालय ने स्कूल, कॉलेजों के साथ ही सरकारी, गैर सरकारी कार्यालयों में आतंकवाद के विरोध में शपथ दिलाने का भी निर्देश दिया गया है. ऐसे में कर्मचारी आतंकवाद के विरोध में संकल्प ले सकेंगे.