close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनू पुलिस ने दिया रक्षाबंधन का खास तोहफा, महिला सुरक्षा के लिए शुरू किया मैत्री कार्यक्रम

झुंझुनू एसपी गौरव यादव द्वारा लगातार किए जा रहे नवाचारों की श्रेणी में यह नवाचार भी है. जिसके तहत जिले में ना केवल महिलाएं, बल्कि पुरुषों को भी इस नेटवर्क से जोड़ा जाएगा

झुंझुनू पुलिस ने दिया रक्षाबंधन का खास तोहफा, महिला सुरक्षा के लिए शुरू किया मैत्री कार्यक्रम
फाइल फोटो

संदीप केडियाझुंझुनू: राजस्थान की झुंझुनू पुलिस ने महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में बताने तथा उनके साथ हो रहे अपराधों को लेकर उन्हें जागरूक करने के लिए महीनेभर पहले सशक्त नारी अभियान शुरू किया था. अब इस अभियान में एक कदम और आगे बढ़ाते हुए झुंझुनू पुलिस ने सोशल मीडिया पर करीब डेढ़ लाख लोगों का एक नेटवर्क तैयार करने का काम किया है. जिसका शुभारंभ बुधवार को जयपुर रेंज आईजी एस. सेंगाथिर ने किया. उन्होंने कहा कि झुंझुनू में शुरू किया गया मैत्री कार्यक्रम सफल होने के बाद उसे अन्य जिलों में भी लागू किया जाएगा. साथ ही महिलाओं की पुलिस में शिकायत को लेकर झिझक को समझते हुए पुलिस ने फैसला लिया है कि अब थानों में महिला और बाल डेस्क दोनों को प्रभावी किया जाएगा.

झुंझुनू एसपी गौरव यादव द्वारा लगातार किए जा रहे नवाचारों की श्रेणी में यह नवाचार भी है. जिसके तहत जिले में ना केवल महिलाएं, बल्कि पुरुषों को भी इस नेटवर्क से जोड़ा जाएगा ताकि वो समय पर महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों की शिकायत तुरंत व्हाट्स एप पर दे सके. इनमें अधिकतर महिला कार्यकर्ता, कर्मचारी और एनजीओ सहित विशिष्टजन शामिल होंगे. जो इस कार्यक्रम की महत्ता के साथ साथ यह भी समझते हैं कि वास्तव में महिलाओं को लेकर क्या क्या कदम उठाने चाहिए.

इस कार्यक्रम में पुलिस का सहयोग देगा महिला अधिकारिता विभाग. झुंझुनू में हुए कार्यक्रम में बताया गया कि यह कार्यक्रम एसपी गौरव यादव की पत्नी आर्या यादव द्वारा तैयार किया गया है. वो भी कहीं ना कहीं इस अभियान में जुड़ी रहेंगी ताकि उसकी प्रभावी क्रियान्विति हो सके. साथ ही महिला अधिकारिता विभाग भी बीट स्तर से लेकर जिला स्तर तक इस नेटवर्क को सशक्त और सफल बनाने के लिए प्रयास करेगा.

पहले सशक्त नारी अभियान और मैत्री कार्यक्रम. ये दोनों कार्यक्रम शुरू करने के बाद तय हो गया है कि रक्षा बंधन को खास बनाने के लिए झुंझुनू पुलिस कोई कसर नहीं छोड़ रही और वह केवल एक दिन रक्षा का संकल्प नहीं ले रही है बल्कि हमेशा के लिए एक ऐसा नेटवर्क तैयार कर रही है. जिससे महिलाओं को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ तो मिले ही साथ ही उन्हें सुरक्षा को लेकर भी अहसज ना लगे.