राजस्थान के प्रशासनिक अधिकारियों ने मुंबई मैराथन में लगाई दौड़, जानें कारण...

मुंबई में रविवार हुई ताज मैराथन में राजस्थान के तीन प्रशासनिक अधिकारियों ने भी पार्टिसिपेट कर स्वस्थ रहने का संदेश दिया.

राजस्थान के प्रशासनिक अधिकारियों ने मुंबई मैराथन में लगाई दौड़, जानें कारण...
ताज मैराथन में राजस्थान के तीन प्रशासनिक अधिकारियों ने पार्टिसिपेट किया.

जयपुर: मुंबई में रविवार हुई ताज मैराथन में राजस्थान के तीन प्रशासनिक अधिकारियों ने भी पार्टिसिपेट कर स्वस्थ रहने का संदेश दिया. लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के ओएसडी राजीव दत्ता, राजस्थान ट्रांसपोर्ट विभाग के कमिश्नर राजेश यादव और माइंस डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेट्री दिनेश कुमार ने इस मैराथन भी दौड़ लगाई. तीनों अधिकारियों ने ना केवल इस मैराथन में पार्टिसिपेट किया बल्कि मेराथन को पूरा भी किया. 

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के ओएसडी राजीव दत्ता ने बताया कि आज के इस दौर में जब इंसानी व्यस्तताएं इतनी अधिक हो गई है तब अपनी हेल्थ को लेकर जागरूक रहना और दूसरों को जागरूक करना बेहद जरूरी है. व्यस्ततम समय में से ही आपको अपने स्वास्थ्य के लिए समय निकालना होगा और स्वस्थ रहने के लिए रनिंग से बेहतर कोई विकल्प नहीं है. यही वजह है कि हम तीनों दोस्तों में मुंबई मैराथन में भाग लिया है. 

ट्रांसपोर्ट कमिश्नर राजेश यादव का कहना है कि लंबे समय से वे रनिंग कर रहे हैं, लेकिन उनकी इच्छा थी मुंबई मैराथन को पूरा करने की, आज इसे पूरा कर उन्हें बेहद खुशी हो रही है. माइनिंग डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेट्री दिनेश कुमार का कहना है कि अगर आपके पास जिम जाने का समय नहीं है तो आप अपने काम के बीच समय निकालकर वह कर सकते हैं. अगर आप सुबह घूमने नहीं जा सकते तो आप शाम को किसी पार्क में दौड़ लगा सकते हैं, लेकिन आपको खुद को फिट रखने के लिए रोजाना एक घंटा देना बेहद जरूरी है. अगर आप शारीरिक तौर पर फिट रहेंगे तो आप मानसिक तौर पर भी स्वस्थ रहेंगे. इससे आपके कार्य करने की क्षमता बेहतर होगी. 

गौरतलब है कि आज टाटा मुंबई मैराथन के 17 वें संस्करण में, 55,000 से अधिक लोगों ने भाग लिया. टाटा मुंबई मैराथन के इस 17 वें संस्करण में कई मुद्दों को उठाया गया. इनमें डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा का मुद्दा अहम था. इस दौरान एक डॉक्टर पीड़ित के रूप में वस्र पहने दिखा, जिसने मरीजों और उनके परिवारों द्वारा हमले से सुरक्षा की मांग की.