close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: कोटा में छात्र संघ चुनाव की तैयारी पूरी, कल होंगे चुनाव

यूनिवर्सिटी औऱ कॉलेज कैम्पसों में छात्रों और चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों में चुनाव को लेकर काफी उत्साह देखा गया. कल मंगलवार को कोटा के 24 हजार छात्र मतदान कर अपने उम्मीदवार चुनने जा रहे हैं.

राजस्थान: कोटा में छात्र संघ चुनाव की तैयारी पूरी, कल होंगे चुनाव
छात्र संघ चुनाव के लिए प्रशासनिक तैयारी पूरी हो चुकी है.

कोटा/मुकेश सोनी: कोटा शहर के 9 कॉलेजों सहित कोटा विश्वविद्यालय में मंगलवार को छात्रसंघ चुनाव के लिए दौरान वोट डाले जाएंगे. इस चुनाव में एबीवीपी, एनएसयूआई औऱ निर्दलीय प्रत्याशियो के मैदान में होने से मुकाबला त्रिकोणीय होता दिख रहा है. 

छात्र संसद के चुनाव को लेकर कॉलेज कैम्पस में काफी उत्साह है. चुनाव प्रचार थमने के बाद प्रत्याशी डोर टू डोर जनसम्पर्क करके सनर्थन की अपील कर रहे है. मतदाताओं को रिझाने में प्रत्याशी कोई कमी कसर नही छोड़ रहा. 

एबीवीपी राष्ट्रवाद के नाम पर मांग रही वोट
कॉलेज कैम्पसों में चुनाव में इस बार राष्ट्रवाद की विचारधारा को लेकर भी वोट मांगे जा रहे है. खासकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद धारा 370 के नाम पर युवा मतदाताओं को अपनी ओर खींचने का प्रयास कर रहा है. 

लाइव टीवी देखें-:

एबीवीपी की 7 कॉलेज में उम्मीदवार
इस बार के चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने 7 कॉलेज में अपना पैनल उतारा है. जबकि कोटा विश्वविद्यालय में एबीवीपी ने केवल अध्यक्ष पद के लिए प्रत्याशी दिया है.

3 कॉलेजों में एऩएसयूआई उम्मीदवार रेस में  
इस बार के चुनाव में एनएसयूआई के प्रत्याशी 3 कॉलेजों में चुनावी मैदान में हैं. जबकि जेडीबी आर्ट में एऩएसयूआई ने निर्दलीय उम्मीदवार को को समर्थन दिया है. 

निर्दलीय प्रत्याशी भी कर रहे जीत का दावा
इधर निर्दलीय प्रत्याशी में भी मजबूती से चुनावी मैदान में जुटे है. निर्दलीय प्रत्याशी भी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं. ऐसे में इस बार भी कैम्पस के चुनावों में मुकाबला त्रिकोणीय होता दिख रहा है.

24 हजार छात्र करेंगे मतदान
कोटा विश्वविद्यालय सहित 9 कॉलेजों में करीब 24 हजार छात्र-छात्राएं अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. जिसके लिए पुलिस और प्रशासन ने कॉलेज कैम्पस में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए है. चुनाव के पहले कॉलेज कैम्पस में बेरिकेड्स लगाए गए है. इसके अलावा शांतिपूर्वक चुनाव करवाने के लिए छात्र नेताओं के साथ प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक भी हो रही है.

छात्र संगठनो ने झोंकी पूरी ताकत
कोटा के कई छात्र नेता इस बार के चुनाव में जीत हासिक करना चाह रहे हैं. जिसके लिए  उन्होंने पूरे चुनाव के दौरान जनसंपर्क और चुनाव प्रचार किया. इसके अलावा चुनावी जीत पक्की करने के लिए सोशल मीडिया का भी जमकर इस्तेमाल हुआ है.

लिंगदोह कमेटी के सिफारिशों का उल्लंघन
चुनाव के दौरान लिंग दोह कमेटी की सिफारिशों के भी उल्लंघन के मामले सामने आ रहा है. जिसकी जांच के लिए विश्वविद्यालय के अधिकारियों की कमेटी भी गठित की है.

शांतिपूर्ण चुनाव कराना बड़ी चुनौती 
चुनाव की घोषणा के बाद विश्वविद्यालय प्रबंधन, कॉलेज प्रबंधन के अलावा जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारी लगातार सम्नवय बैठकें की. कोटा में छात्र संघ चुनाव के लिए प्रशासनिक तैयारी पूरी हो चुकी है.