close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टोंक: ट्रेक्टर चालक की मौत मामले में 8वें दौर की वार्ता भी फेल, प्रदर्शन जारी

एक बार फिर से समिति के सदस्यों ने जिला प्रशासन पर हठधर्मिता और मनमानी करने के गम्भीर आरोप लगा दिए. 

टोंक: ट्रेक्टर चालक की मौत मामले में 8वें दौर की वार्ता भी फेल, प्रदर्शन जारी
फाइल फोटो

टोंक/ पुरुषोत्तम जोशी: नगरफोर्ट में उनियारा थानाधिकारी मनीष चारण और अन्य पुलिसकर्मियों पर लगे ट्रैक्टर चालक की हत्या के आरोप में धरना दे रहे देवली-उनियारा विधायक हरीश मीना और कई वरिष्ठ कांग्रेसियों के साथ पीड़ित परिवार द्वारा गठित की गई पांच सदस्यीय टीम की जिला कलेक्टर रामचंद्र ढेनवाल, पुलिस अधीक्षक चूनाराम जाट से मांगे पूरी करवाने को लेकर शुरू हुई. 

समझाइश वार्ता का 8 वां दौर भी नाकाम हुआ. दो पेज का ज्ञापन लेकर जिला कलेक्टर और एसपी से मिलने पहुंचे कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष एम.लईक खान और पीड़ित परिवार के सदस्यों से वार्ता के दौरान शर्तों पर समझौता नहीं होने से एक बार फिर से गतिरोध बढ़ गया और आक्रोशित गठित टीम बंद कमरे से निकल कर धरना स्थल पर आ गई. एक बार फिर से समिति के सदस्यों ने जिला प्रशासन पर हठधर्मिता और मनमानी करने के गम्भीर आरोप लगा दिए. 

विधायक हरीश मीना ने तो यहां तक कह दिया कि गहलोत सरकार की तो मंशा पीड़ित परिवार को मदद देने की है लेकिन जिला कलेक्टर और एसपी राह में रोडा बन रहे है. हालांकि अब सम्भागीय आयुक्त लक्ष्मीनारायण मीना के अजमेर से नगरफोर्ट आने के बाद ही अगली सुलह की उम्मीद नजर आ रही है. फिलहाल सभी प्रशासनिक अधिकारी सम्भागीय आयुक्त का इंतजार कर रहे हैं. इसके साथ ही धरनास्थल पर बैठे प्रदर्शनकारियों के साथ पीड़ित परिवार भी न्याय के इंतजार मे बाट जोह रहा है.