close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टोंक: बारिश के चलते लगातार चौथे दिन भी सोहेला डिग्गी मार्ग रहा बंद

सावन का महीना है और इसी महीने में देश भर के श्रद्धालु आस्था के चलते डिग्गी कल्याण के दर्शन करने के लिए लाखों की तादात में श्रद्धालु टोंक के डिग्गी कैसे में जाते हैं.

टोंक: बारिश के चलते लगातार चौथे दिन भी सोहेला डिग्गी मार्ग रहा बंद
प्रतीकात्मक तस्वीर

टोंक: जिले में लगातार बारिश के चलते हैं रविवार को चौथे दिन भी सोहेला डिग्गी मार्ग पूरी तरह से बंद रहा. इसके साथ ही जोला पीपलू डिग्गी मार्ग 50 घंटे बाद भी पूरी तरह से बंद है. हालांकि इन मार्गों को सुचारु करने के लिए स्थानीय प्रशासन प्रयास कर रहा है लेकिन अब तक कोई खास सफलता हाथ नहीं लगी है. हालात यह है कि देश के आस्था के धाम डिग्गी कल्याण के दर्शन करने के लिए लोगों को जान जोखिम में डालनी पड़ रही है या फिर लंबा चक्कर काटकर जाना पड़ रहा है. 

दरअसल, सावन का महीना है और इसी महीने में देश भर के श्रद्धालु आस्था के चलते डिग्गी कल्याण के दर्शन करने के लिए लाखों की तादात में श्रद्धालु टोंक के डिग्गी कैसे में जाते हैं. 6 अगस्त से डिग्गी का लक्की मेला शुरू होने वाला है. मंदिर ट्रस्ट और जिला प्रशासन ने व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त भी कर दी हैं लेकिन वह सारी व्यवस्था बारिश के कहर के आगे चौपट हो गई हैं. अगर श्रद्धालुओं को टोंक सोहेला होते हुए डिग्गी जाना है तो लंबा इंतजार करना पड़ेगा या फिर जान जोखिम में डालकर डिग्गी पहुंचना पड़ेगा. 

इतना ही नहीं टोंक से गहलोत घाट होते हुए अगर डिग्गी जाना है तो भी श्रद्धालुओं को जान जोखिम में डालना ही पड़ेगा क्योंकि सालों बाद भी गहलोत पुलिया का और रास्तों की तरह पूरी तरह से निर्माण नहीं हो पाया है. यूं मानिए गांव के जीएसएम तक पहुंचने के लिए भी लाइन मैन और कार्मिकों को लम्बा चाकर काटना पड़ रहा है. इतना ही नहीं आस पास के ग्रामीणों को भी रोजमर्रा की आवश्यक सामग्री के लिए अपनी जान जोखिम डालना पड़ रहा है.