टोंक: पुलिस अधिकारी की मौत की गुत्थी अब तक नहीं सुलझा पाया महकमा, धरने पर बैठे परिजन

26 जुलाई को जवान मुकेश जाट की अज्ञात बदमाशों ने चाकू गोदकर हत्या कर दी थी. पुलिस 40 दिन बाद भी मुख्य आरोपियों तक नहीं पहुंच पाई है. 

टोंक: पुलिस अधिकारी की मौत की गुत्थी अब तक नहीं सुलझा पाया महकमा, धरने पर बैठे परिजन

पुरूषोत्तम जोशी, टोंक: पुलिस अपने ही महकमे के जवान मुकेश जाट की हत्या की गुत्थी सुलझाने में नाकाम हैं. मृतक जवान की पत्नी और परिजन न्याय की गुहार लगा रहे हैं. मृतक जवान मुकेश जाट के हत्यारे अब भी गिरफ्त से बाहर हैं. पुलिस प्रशासन की नाकामी को लेकर गुस्से का आलम देखिए. न्याय की मागं को लेकर सर्व समाज के सैकड़ों लोगों और परिजनों ने जिला कलेक्ट्रेट का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन को 10 दिनों का अल्टीमेटम देते हुए जिला कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा और चेतावनी दी कि अगर मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस हत्या की गुत्थी नहीं सुलझाती है तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा.

लाइव टीवी देखें-:

दरअसल, 26 जुलाई को जवान मुकेश जाट की अज्ञात बदमाशों ने चाकू गोदकर हत्या कर दी थी. पुलिस 40 दिन बाद भी मुख्य आरोपियों तक नहीं पहुंच पाई है. पुलिस ने सकरा उर्फ सीताराम को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है लेकिन मुख्य आरोपी अब भी फरार है. सवाल ये है कि जब पुलिस प्रशासन अपने ही महकमे के सिपाही के हत्यारों को पकड़ने में नाकाम है तो भला आम लोग आखिर पुलिस पर कैसे विश्वास करें.