बीकानेर: झूमते-नाचते बारातियों पर ट्रैक्टर ने बरसाई मौत, CCTV में कैद दर्दनाक हादसा

बीकानेर में जैसलमेर हाईवे पर एक ट्रैक्टर ने घूमते बारातियों को कुचल दिया. घटना के साथ ही मौके पर तीन महिलाओं ने दम तोड़ दिया.

बीकानेर: झूमते-नाचते बारातियों पर ट्रैक्टर ने बरसाई मौत, CCTV में कैद दर्दनाक हादसा
घटना के दौरान मौके पर ही तीन महिलाओं ने दम तोड़ दिया.

रौनक व्यास, बीकानेर: राजस्थान के बूंदी में बुधवार सुबह हुए बस हादसे में  मृत 24 लोगों की चिताओं की आग अभी ठंडी भी न पड़ी थी कि बीकानेर में एक और दर्दनाक हादसा सामने आया है.

दरअसल, बीकानेर में जैसलमेर हाईवे पर एक ट्रैक्टर ने घूमते बारातियों को कुचल दिया. घटना के साथ ही मौके पर तीन महिलाओं ने दम तोड़ दिया तो वहीं कई घायलों को बीकानेर हॉस्पिटल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया है, जिनका इलाज जारी है.

बीकानेर के जैसलमेर हाईवे पर आज एक ऐसा दर्दनाक हादसा सामने आया, जहां ख़ुशियों से नाचते-झूमते बारातियों पर एक तेज़ स्पीड में आ रहा ट्रैक्टर जा घुसा. बारात में जा रहे लोगों को क्या पता था कि वो उनकी खुशियां मातम में बदल जाएंगी? 

घटना के दौरान मौके पर ही तीन महिलाओं ने दम तोड़ दिया और कई घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. वहीं, घटना के बाद कलेक्टर ओर एसपी मौके पर पहुंचे और जांच के आदेश दिए. वहीं, घायलों से हाल-चाल जाना. फ़िलहाल घायलों का इलाज जारी है.

घटना के बाद लोगों का भारी विरोध किया और पुलिस की प्रणाली पर भी सवाल खड़े कर दिए, पुलिस प्रशासन के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी की और कार्रवाई की मांग की.

बता दें कि बुधवार का दिन कोटा के एक परिवार के लिए काल बन गया. एक बस हादसा और पूरा का पूरा परिवार ही ख़त्म हो गया. लाखेरी में हुए बस हादसे में 24 लोगों की जान चली गई, जिसने भी इस घटना के बारे में सुना, सिहर उठा. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, राजस्थान सरकार के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ओर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावस घायलों से मिलने कोटा पहुंचे. 

जिसने भी हादसे का मंजर देखा, सिहर उठा. आंसू रुके नहीं. हर आंख को रोने पर विवश करने वाला मंज़र था एक साथ जलती 21 चिताएं. इस घटना से उठे दर्द की आह के बाद तो शायद शमशान भी चीत्कार उठा. कहां एक तरफ़ ये परिवार शादी की ख़ुशी में डूबा था, कहां ये ग़म का दहलाने वाला मंज़र. कोटा से सवाईमाधोपुर के लिए कोटा का परिवार मायरा भरने के लिए रवाना हुआ पूरा परिवार बस ड्राइवर समेत निजी बस में कुल 30 लोग सवार थे लेकिन लाखेरी के पास मेज़ नदी पर बनी पुलिया पर बस एकाएक अनियंत्रित हो गई और अनियंत्रित होकर नदी में जा गिरी.