close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डीजल में पानी मिलाकर बेचता था पेट्रोल पंप मालिक, ट्रक ड्राइवरों ने किया हंगामा

राजस्थान के मकराना उपखंड के ग्राम गच्छीपुरा में स्थित इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप पर डीजल में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर ट्रैक्टर चालकों ने हंगामा किया. ट्रैक्टर चालकों ने पेट्रोल पंप चालक पर आरोप लगाते हुए कहा कि डीजल में पानी मिलाया जा रहा है और माप तौल में भी कम दिया जा रहा है. ऐसी शिकायतें हर रोज देखने को मिल रही थी, लेकिन आज 1-2 वाहन सहित सात आठ ट्रैक्टर चालकों ने डीजल डलवाया. जिसके बाद वाहन व ट्रैक्टर दो-तीन किलोमीटर जाकर एयर लेकर बंद हो गए.

डीजल में पानी मिलाकर बेचता था पेट्रोल पंप मालिक, ट्रक ड्राइवरों ने किया हंगामा
पेट्रोल पंप के मैनेजर सुरेंद्र पांडे ने बताया कि उपभोक्ताओं की शिकायत पर उन्होंने डीजल कि अपने स्तर पर जांच की.

जयपुर : राजस्थान के मकराना उपखंड के ग्राम गच्छीपुरा में स्थित इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप पर डीजल में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर ट्रैक्टर चालकों ने हंगामा किया. ट्रैक्टर चालकों ने पेट्रोल पंप चालक पर आरोप लगाते हुए कहा कि डीजल में पानी मिलाया जा रहा है और माप तौल में भी कम दिया जा रहा है. ऐसी शिकायतें हर रोज देखने को मिल रही थी, लेकिन आज 1-2 वाहन सहित सात आठ ट्रैक्टर चालकों ने डीजल डलवाया. जिसके बाद वाहन व ट्रैक्टर दो-तीन किलोमीटर जाकर एयर लेकर बंद हो गए.

शिकायत के बाद डीजल की हुई जांच
इस घटना के बाद सभी ट्रैक्टर चालक व 1-2 वाहन चालक पेट्रोल पंप पर धक्के देकर अपने वाहनों को लेकर पहुंचे और वहां पर हंगामा कर दिया. साथ ही डीजल को बाहर निकाल कर देखा तो उसमें ऊपर तैरता हुआ पानी नजर आया. जिसके बाद ट्रैक्टर चालकों का आक्रोश और बढ़ गया. वहीं, पेट्रोल पंप के मैनेजर सुरेंद्र पांडे ने बताया कि उपभोक्ताओं की शिकायत पर उन्होंने डीजल कि अपने स्तर पर जांच की. जिसमें डीजल सही पाया गया.

उन्होंने विवाद मिटाने के लिए ट्रैक्टर चालकों से कहा कि आप अपने वाहनों से डीजल निकाल कर वापस दे दो और अपने पैसे ले जाओ. इस बात पर ट्रैक्टर चालक और ज्यादा भड़क गए. इसके बाद मकराना उपखंड अधिकारी और रसद अधिकारी नागौर को दूरभाष पर ट्रैक्टर चालकों ने शिकायत करने का प्रयास किया, लेकिन उक्त दोनों ही कार्यालय में उनका संपर्क नहीं हो सका. वहीं ट्रैक्टर चालकों ने पेट्रोल पंप मैनेजर को खुले शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक अधिकारी आकर मौका मुआयना देखकर और डीजल की जांच करने के बाद ही वे डीजल का बेचान कर सकते हैं. इस बात पर मैनेजर ने भी सहमति जताई. तब जाकर मामला शांत हुआ.