close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर में ट्रांसपोर्ट व्यवसाइयों ने जिला प्रशासन पर जल्दबाजी में शिफ्टिंग का लगाया आरोप, हड़ताल के दिए संकेत

अजमेर की बिगड़ी यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा शहर के मध्य में चल रहे ट्रांसपोर्ट व्यवसाय को शहर के बाहर किए जाने का निर्णय लिया है. 

अजमेर में ट्रांसपोर्ट व्यवसाइयों ने जिला प्रशासन पर जल्दबाजी में शिफ्टिंग का लगाया आरोप, हड़ताल के दिए संकेत

मनवीर सिंह, अजमेर: राजस्थान के अजमेर के ट्रांसपोर्ट व्यवसाइयों ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंच कर जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा से मुलाकात कर ट्रांसपोर्ट नगर शिफ्टिंग के निर्णय पर रोष का इजहार किया. ट्रांसपोर्ट व्यवसाइयों ने आरोप लगाया कि जिला प्रशासन ने ट्रांसपोर्ट नगर की शिफ्टिंग का निर्णय जल्दबाजी में लिया है. अजमेर के ट्रांसपोटर्स ने चेतावनी दी है कि यदि शिफ्टिंग के लिए 15 अगस्त की समय सीमा को नहीं बढ़ाया गया तो हड़ताल का रास्ता इख्तियार किया जाएगा. 

अजमेर की बिगड़ी यातायात व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा शहर के मध्य में चल रहे ट्रांसपोर्ट व्यवसाय को शहर के बाहर किए जाने का निर्णय लिया है. ट्रांसपोटर्स को इसके लिए आगामी पंद्रह अगस्त तक की समय सीमा दी गयी थी लेकिन अब स्थानीय ट्रांसपोटर्स खुल कर जिला प्रशासन के इस फैसले के विरोध में उत्तर आए हैं. 

ट्रांसपोटर्स संघ के बैनर तले कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा से मुलाकात करने पहुंचे शिष्टमंडल ने अब चेतावनी दी है कि यदि उन्हें शिफ्टिंग के लिए छह माह का समय नहीं दिया गया तो सभी ट्रांसपोटर्स अपना व्यवसाय बंद कर हड़ताल पर चले जाएंगे. 

दूसरी तरफ जिला प्रशासन ने स्पष्ट कर दिया है कि 15 अगस्त की तय समय सीमा में सभी ट्रांसपोटर्स को अपना व्यवसाय शहर के बाहर बकरा मंडी स्थित ट्रांसपोर्ट नगर में शिफ्ट करना पड़ेगा अन्यथा प्रशासन शहर में भाहरी वाहनों के प्रवेश पर चौबीस घंटे की पाबंदी लागू करेगा.