झालावाड़ में दो दिवसीय जैव विविधता उत्सव का आयोजन, छात्रों ने पेड़-पौधों की ली जानकारी

कृषि विज्ञान केंद्र पर एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया, जिसमें जैव विविधता से जुड़े पक्षी पशुओं तथा पेड़ पौधों के बारे में तस्वीरों के माध्यम से आमजन को जानकारी उपलब्ध कराई

झालावाड़ में दो दिवसीय जैव विविधता उत्सव का आयोजन, छात्रों ने पेड़-पौधों की ली जानकारी
कृषि विज्ञान केंद्र के सभागार में जैव विविधता पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया.

महेश परिहार, झालावाड़: जिले में जिला प्रशासन एवं वन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में दो दिवसीय जैव विविधता उत्सव का आयोजन किया जा रहा है. इसके अंतर्गत आज विभिन्न गतिविधियां आयोजित की गईं.

जैव विविधता उत्सव के अंतर्गत कृषि विज्ञान केंद्र में आयोजित वन्य जीवों पर आधारित फोटो प्रदर्शनी का संभागीय मुख्य वन संरक्षक एवं मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व कोटा के क्षेत्रीय निदेशक आनंद मोहन ने जिला कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग की मौजूदगी में फीता काटकर विधिवत उद्घाटन किया.

इसके बाद कृषि विज्ञान केंद्र के सभागार में जैव विविधता पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें संभागीय मुख्य वन संरक्षक एवं मुकंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व कोटा के क्षेत्र निदेशक आनन्द मोहन ने बताया कि मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में टाइगर आने से यहां के वन क्षेत्र का परिस्थति संतुलन बेहतर हो रहा है और टाइगर में हमारी जैव विविधता निहित है.

इस दौरान कृषि विज्ञान केंद्र पर एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया, जिसमें जैव विविधता से जुड़े पक्षी पशुओं तथा पेड़ पौधों के बारे में तस्वीरों के माध्यम से आमजन को जानकारी उपलब्ध कराई गई. तो वहीं, डाक टिकट तथा करेंसी पर भी पक्षी जीव-जंतु तथा पर्यावरण की उपस्थिति को दर्शाया गया.

जैव विविधता उत्सव के दूसरे दिन आज बड़बेला तालाब रेंज असनावर में बर्ड वॉचिंग एवं वन भ्रमण कराया गया, जहां छात्र छात्राएं तथा पर्यावरण तथा पक्षी प्रेमी भी पक्षियों को निहार कर प्रफुल्लित होते दिखाई दिए.