अजमेर सेंट्रल जेल में धड़ल्ले से चल रहा मोबाइल खेल, 2 कैदियों के पास से फोन बरामद

यहां से हार्डकोर कैदी अपनी तमाम गतिविधियां संचालित कर रहे हैं. वहीं, सोशल मीडिया पर भी एक्टिव नजर आ रहे हैं. 

अजमेर सेंट्रल जेल में धड़ल्ले से चल रहा मोबाइल खेल, 2 कैदियों के पास से फोन बरामद
पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर मोबाइल को ट्रेसिंग पर लगाया है.

अशोक, अजमेर: जिले की हाई सिक्योरिटी जेल हो या फिर सेंट्रल जेल, दोनों में ही मोबाइल का खेल धड़ल्ले से चल रहा है. आए दिन जेल प्रशासन के तलाशी में जेल से मोबाइल बरामद किए जा रहे हैं.

यहां से हार्डकोर कैदी अपनी तमाम गतिविधियां संचालित कर रहे हैं. वहीं, सोशल मीडिया पर भी एक्टिव नजर आ रहे हैं. जेल में कड़ी सुरक्षा बंदोबस्त और चेकिंग के बावजूद भी कैदी के पास मोबाइल पहुंचना सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े कर रहा है.

जेल में बंद हार्ड को कैदियों को मोबाइल पहुंचाने में किस की मदद ली जा रही है, इसको लेकर पुलिस जांच कर रही है. प्रदेश की सबसे सुरक्षित हाई सिक्योरिटी जेल में मोबाइल मिलने के बाद सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे हैं. जेल में बंद हार्डकोर अपराधी रिछपाल और रमेश के पास यह मोबाइल मिला है. इस मामले को लेकर जेल प्रशासन ने सिविल लाइन थाने में मुकदमा दर्ज कराया है.

मामले की जानकारी के अनुसार, हाई सिक्योरिटी जेल प्रशासन द्वारा बीती रात तलाशी अभियान चलाया गया था. इसी दौरान बैरक नंबर एक में बंद कैदी रिछपाल और रमेश के बैरक की तलाशी ली गई तो उन्होंने अपना मोबाइल टॉयलेट में फेंक दिया. जेल प्रशासन ने मोबाइल को बरामद सिम को भी जब्त किया है. इसके बाद दोनों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर मोबाइल को ट्रेसिंग पर लगाया है, जिससे कि पता चल सके कि दोनों कहां किस दिन और किस से बातचीत कर रहे थे. इस मोबाइल के खेल के पीछे कोई बड़ी साजिश को अंजाम नहीं दी जा रही थी. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है.