Udaipur: Corona केस बढ़ने पर प्रशासन सख्त, 6 राज्यों से आने पर दिखाना होगी जांच रिपोर्ट

Udaipur News: उदयपुर जिले में आने वाले पर्यटकों और यात्रियों के लिए यात्रा शुरू करने से पूर्व 72 घंटे की अवधि के दौरान करवाए गए RTPCR Test की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी.

Udaipur: Corona केस बढ़ने पर प्रशासन सख्त, 6 राज्यों से आने पर दिखाना होगी जांच रिपोर्ट
कोरोना केस बढ़ने पर प्रशासन सख्त.

Udaipur: उदयपुर जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर स्थानीय जिला प्रशासन सख्त रुख अपनाने लगा है. जिले में कोरोना संक्रमण और नहीं बढ़े इसी को लेकर जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा ने शनिवार शाम को जिला परिषद सभागार में होटल और टूर एंड ट्रेवल्स के कारोबार से जुड़े व्यवसायियों एवं व्यापार संघ के प्रतिनिधियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की.

बैठक में केरल और महाराष्ट्र सहित राजस्थान के सीमावर्ती 4 राज्यों से आने वाले यात्रियों पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. कलेक्टर देवड़ा ने कहा कि विशेषकर केरल, महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश व गुजरात से उदयपुर जिले में आने वाले पर्यटकों और यात्रियों के लिए यात्रा शुरू करने से पूर्व 72 घंटे की अवधि के दौरान करवाए गए RTPCR Test की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी.

उन्होंने कहा कि बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के किसी भी मेहमान को होटल में प्रवेश नहीं दिया जाए इसके लिए पर्यटन विभाग की एक टीम बनाई गई है, जो नियमित रूप से होटल में ठहरने वाले मेहमानों की सूचना की ऑडिट करेगी. यदि विशेष परिस्थितियों में इन छह राज्यों से कोई व्यक्ति बिना आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट के होटल में ठहरता है तो होटल संचालक को गेस्ट का आरटीपीसीआर टेस्ट करवाना होगा और जब तक निगेटिव रिपोर्ट प्राप्त नहीं हो जाती तब तक वह व्यक्ति होटल के कमरे में ही रहेगा.

उन्होंने कहा कि यदि होटल में ठहरने के बाद किसी व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आती है तो होटल संचालक को तुरंत इसकी जानकारी जिला प्रशासन को देनी होगी. ऑनलाइन बुकिंग के दौरान भी महाराष्ट्र और केरल से आने वाले व्यक्ति को आरटीपीसीआर रिपोर्ट देनी होगी, तभी होटल में कमरा बुक होगा। 

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होने पर हवाई यात्रा संभव
कलेक्टर देवड़ा ने एयरपोर्ट प्रशासन को निर्देश दिए कि एयरलाइंस कंपनियां महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश व गुजरात से आने वाले उदयपुर आने वाले यात्रियों की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लेने के बाद ही यात्रियों को विमान में प्रवेश की अनुमति दें. कलक्टर ने डबोक एयरपोर्ट पर यात्रियों की स्क्रीनिंग और सैंपलिंग व्यवस्था चाक-चौबंद रखने को कहा.

प्राइवेट बसों पर भी रहेगी प्रशासन की नजर
जिला परिवहन अधिकारी को टूर एंड ट्रेवल्स ऑपरेटर के साथ सामंजस्य स्थापित कर यात्रियों की स्क्रीनिंग और सैम्पलिंग व्यवस्था पुख्ता करने के निर्देश दिए. विशेष तौर पर महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश व गुजरात से आने वाले यात्रियों की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट होने पर ही उदयपुर जिले में प्रवेश की अनुमति देने के निर्देश दिए. कलेक्टर ने कहा कि टैक्सी चालक और प्राइवेट बस ऑपरेटर भी कोविड प्रोटोकॉल के पालन में लापरवाही न बरतें. 

मिलकर करेंगे मुकाबला
बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार ने कहा कि एक साल पहले मार्च के महीने में ही लॉकडाउन लगा था.वैसी ही परिस्थितियां दोबारा न झेलनी पडे़ इसके लिए हम सब को साथ मिलकर कोरोना के विरुद्ध जंग लड़नी होगी. अभी तक सिविल सोसायटी का पूरा सहयोग मिला है और आशा करते हैं कि आगे भी हर आदमी पुलिस-प्रशासन के साथ मिलकर कोरोना महामारी का मुकाबला करेगा.

चिकित्सा विभाग भी हुआ मुस्तैद
चिकित्सा विभाग ने अब संक्रमण को और अधिक फैलने से रोकने की तैयारियां शुरू कर दी है. शनिवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने सीएमएचओ कार्यालय में चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना संक्रमण से निपटने हेतु रूपरेखा तैयार की.

डॉ.खराड़ी ने बताया कि जिले में संक्रमण और अधिक ना फैले इसके लिए प्रयास युद्ध स्तर पर शुरू कर दिए गए हैं. जिले की सभी सर्वे टीमों को एक्टिव कर दिया गया है जो घर-घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग का कार्य करेंगी. बैठक के दौरान रैपिड रिस्पांस टीमों का भी गठन कर दिया गया है.

(इनपुट-अविनाश जगनावत)