उदयपुर: राष्ट्रीय दृष्टिहीन क्रिकेट चैम्पियनशिप में केरल ने दी राजस्थान को मात

फाइनल में मेजबान राजस्थान ने पहले खेलते हुए 20 ओवरों में 9 विकेट पर 163 रन बनाकर केरल को 164 रन का लक्ष्य दिया.

उदयपुर: राष्ट्रीय दृष्टिहीन क्रिकेट चैम्पियनशिप में केरल ने दी राजस्थान को मात
केरल टीम ने बिना कोई विकेट गंवाए 15 ओवरों लक्ष्य हासिल कर लिया.

उदयपुर: केरल की टीम ने मंगलवार को राजस्थान को हराकर राष्ट्रीय दृष्टिहीन क्रिकेट चैंपियनशिप-2019 खिताब पर कब्जा कर लिया. विश्व दिव्यांगता दिवस पर महाराणा भोपाल कॉलेज मैदान पर आयोजित इस टूर्नामेंट के फाइनल में मेजबान राजस्थान ने पहले खेलते हुए 20 ओवरों में 9 विकेट पर 163 रन बनाकर केरल को 164 रन का लक्ष्य दिया. केरल टीम ने बिना कोई विकेट गंवाए 15 ओवरों लक्ष्य हासिल कर लिया.

केरल के मनीष (96 रन)को मैन ऑफ द मैच चुना गया. तीनों मैचों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द सीरीज का खिताब भी इन्हीं के नाम रहा. इन्होंने तीन मैचों में कुल 234 रन बनाए.

नारायण सेवा संस्थान के सहयोग से क्रिकेट एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड इन इंडिया एवं राजस्थान  क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ द ब्लाइंड के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस चैंपियनशिप में देश की 6 टीमों- राजस्थान, केरल, गुजरात, मध्य प्रदेश, गोवा और पश्चिम बंगाल ने भाग लिया.

महाराणा भूपाल कॉलेज मैदान पर समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह की मुख्य अतिथि जिला कलेक्टर आनंदी थीं. जिला कलेक्टर ने खिलाड़ियों को बधाई देते हुए कहा कि दिव्यांगता का एक बड़ा कारण कुपोषण भी है. उन्होंने नारायण सेवा संस्थान के सहयोग से जिला प्रशासन द्वारा जिले के आदिवासी व पिछड़े इलाकों में कुपोषण की समस्या को समाप्त करने के लिए शीघ्र ही शुरू किए जाने वाले अभियान की जानकारी दी.

पुरस्कार वितरण समारोह के आरंभ में नारायण सेवा संस्थान के चेयरमैन पदमश्री कैलाश मानव ने अतिथियों का स्वागत किया. संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने चार दिवसीय चैंपियनशिप का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए संस्थान द्वारा दिव्यांगों के लिए विकसित की जा रही नारायण दिव्यांग स्पोर्ट्स एकेडमी की जानकारी दी.