close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उदयपुर: आदमखोर तेंदुए के आतंक से डर में लोग, अब तक 3 लोगों की ले चुका है जान

पैंथर के लगातार इस तरीके से एक के बाद एक व्यक्ति पर हमला करने से वन रेंज के 12 गावों के लोगों ने लामबंद होते हुए उदयपुर-अहमदाबाद हाइवे पर जाम लगा दिया है.

उदयपुर: आदमखोर तेंदुए के आतंक से डर में लोग, अब तक 3 लोगों की ले चुका है जान
प्रतीकात्मक तस्वीर

धीरज रावल, उदयपुर: जिले के परसाद वन रेंज में पैंथर ने एक बच्ची का शिकार कर लिया. आपको बता दें, तेंदुए के शिकार का यह तीसरा मामला है. उदयपुर जिले के परसाद फॉरेस्ट रेंज में एक आदमखोर तेंदुए ने पिछले कुछ वक्त से अपना आतंक मचा रखा है लेकिन अभी तक इस तेंदुए को पकड़ा नहीं गया है. जिस कारण आस पास के गांव के लोग दहशत में है. इस तेंदुए के कारण लोगों की रातों की नींद उड़ी हुई है. 

पैंथर के लगातार इस तरीके से एक के बाद एक व्यक्ति पर हमला करने से वन रेंज के 12 गावों के लोगों ने लामबंद होते हुए उदयपुर-अहमदाबाद हाइवे पर जाम लगा दिया है. हाईवे पर ग्रामीणों द्वारा जाम लगाने की सूचना पर पुलिस और वन विभाग के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और जाम खुलवाने के लिए ग्रामीणों से समझाइश की लेकिन देखते देखते मामला बिगड़ गया और ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव करते हुए 2 वाहनों में आग लगा दी. वहीं भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने भी हवाई फायर किया . ग्रामीणों की तरफ से किए गए पथराव में नाई थानाधिकारी भी घायल हो गए. आक्रोशित ग्रामीणों का कहना है कि जब तक वन विभाग की टीम आदमखोर पैंथर को नहीं पकड़ती है, जब तक उनके द्वारा हाईवे का जाम नहीं खोला जाएगा. 

आपको बता दें कि परसाद रेंज के बारापाल गांव में 24 जुलाई को तेंदुए ने घर में सो रहे युवक पर हमला कर उसे मार दिया था और घर से करीब 100 गज दूर झाड़ियों तक घसीट कर ले गया था. वहीं 5 अगस्त को तेंदुए ने मवेशी चराने गए 15 साल के किशोर पर हमला कर मौत के घाट सुला दिया और अब 13 अगस्त को एक बच्ची को अपना शिकार बना लिया. 

ग्रामीणों के गुस्से और प्रदर्शन के बाद वन विभाग का अमला जंगल का कोना-कोना छान रहा है लेकिन ये आदमखोर तेंदुआ इतना खतरनाक और शातिर हैं, कि वन विभाग की टीम को लगातार चकमा दे रहा है. वन विभाग ने भी इस तेंदुए को आदमखोर घोषित कर दिया है लेकिन तेंदुए का पकड़ में नहीं आना वन विभाग के साथ लोगों के लिए भी चिंता का सबब बना हुआ है.

परसाद रेंज के ग्रामीण तेंदुए के दहशत से खौफ में है. लोगों को डर हैं, कि कहीं आदमखोर उनके बच्चों और परिजनों को अपना निशाना ना बना लें. तेंदुए के आदमखोर घोषित होने के बाद वन विभाग भी इसे मौत का घाट उतारने की तैयारी कर ली है लेकिन तमाम कवायदों के बावजूद अब तक पकड़ में नहीं आना बहुत बड़ी चिंता बनी हुई हैं.