यहां Corona मरीजों को मिल रहा है घर से भी बेहतर माहौल, इस मॉडल की देश में चर्चा

कोरोना संक्रमित होने के बाद अक्सर मरीज मानसिक तनाव में आ जाता है. अस्पतालों में मरीजों की भीड़ और कई बार बेहतर सुविधाओं के आभाव में मरीज का तनाव और बढ़ जाता है. 

यहां Corona मरीजों को मिल रहा है घर से भी बेहतर माहौल, इस मॉडल की देश में चर्चा
डूंगरपुर नगर परिषद् द्वारा वृद्धाश्रम भवन तैयार कराया गया है.

Dungarpur : कोरोना संक्रमित होने के बाद अक्सर मरीज मानसिक तनाव में आ जाता है. अस्पतालों में मरीजों की भीड़ और कई बार बेहतर सुविधाओं के आभाव में मरीज का तनाव और बढ़ जाता है. इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए डूंगरपुर (Dungarpur News) में नगर परिषद् और प्रशासन ने मिलकर एक मॉडल कोविड अस्पताल तैयार किया है. जहां मरीजों को इलाज के साथ उचित वातारवरण और सुविधाएं भी मिल रही हैं.

यह भी पढ़ें- गहलोत सरकार ने चिकित्सा संसाधनों पर बजट सही तरीके से खर्च नहीं किया: राज्यवर्धन राठौड़

डूंगरपुर नगर परिषद् द्वारा वृद्धाश्रम भवन तैयार कराया गया है. वसुंधरा विहार कॉलोनी के प्राकृतिक वातावरण में बने इस आलीशान भवन में अब 100 बेड का अस्थाई कोविड अस्पताल चल रहा है. इस भवन में अटेच टॉयलेट वाले 25 कमरे और 2 बड़े हॉल हैं. भवन के साफ-सुथरे कमरों में अब कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती है तथा चिकित्सा विभाग (Medical Department) द्वारा नियुक्त गिए डॉक्टर एवं स्टाफ उनका इलाज कर रहे हैं. मरीजों की सुविधा और मनोरंजन के लिए नगर परिषद् ने भवन में म्यूजिक सिस्टम, टीवी, किताबे तथा इंडोर गेम्स की सुविधाए भी उपलब्ध कराई गई हैं. इसके अलावा सुबह शाम पोष्टिक भोजन तथा योग करने के लिए आवश्यक सुविधाए भी मरीजों को दी जा रही है.

भवन के बीचों-बिच बने गार्डन में मरीज टहलते हुए स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं. यहां भर्ती मरीजों का कहना है कि उन्हें यहां घर से भी ज्यादा अच्छा माहौल और साथ में इलाज भी मिल रहा है जो उनके जल्द ठीक होने में सहायक सिद्ध हो रहा है. इन सुविधाओं के लिए मरीज प्रशासन , नगर परिषद् और स्वास्थ्य विभाग का आभार जता रहे हैं.

बहरहाल कोरोना की दूसरी लहर से लोगों को बचाने व संक्रमित मरीजों के लिए राज्य सरकार (Rajasthan Government), जिला प्रशासन और डूंगरपूर नगरपरिषद पूरी तरह से गंभीर व संवेदनशील है. वहीं, डूंगरपूर नगरपरिषद द्वारा वृद्धाश्रम में तैयार मॉडल कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों को बेहतर इलाज उपलब्ध करवाने के साथ ही मरीजों के मानसिक तनाव को दूर कर उन्हें स्वस्थ्य करने का प्रयास किया जा रहा है. शहर में खाली पड़े वृद्धाश्रम भवन का प्रशासन और नगर परिषद् ने मिलकर बेहतर उपयोग किया. डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ भी पूरी शिद्दत से मरीजों की सेवा में जुटा हुआ है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan BJP कोर कमेटी की बैठक में सेवा कार्यों और Covid-19 प्रबंधन पर हुई चर्चा