भगवान की शरण में जनता, Pratapgarh में सभी जगह हो रही पूजा-पाठ

प्रतापगढ़ जिले (Pratapgarh News) में इन दिनों पूजा-पाठ शुरु कर दी गई है.

भगवान की शरण में जनता, Pratapgarh में सभी जगह हो रही पूजा-पाठ
कोरोना को भगाने के लिए जिले भर में कई प्रकार के धार्मिक आयोजन किए जा रहे हैं.

Pratapgarh : जब परिवार में कोई संकट आए, जब इलाज काम करने ना लगे तो जनता भगवान की शरण में चली जाती है. कोरोना काल में भी देश में कुछ ऐसा ही जगह जगह देखने को मिल रहा है. प्रतापगढ़ जिले (Pratapgarh News) में इन दिनों पूजा-पाठ शुरु कर दी गई है. जिले की जनता हवन पूजन करके कोरोना को मारने पर विश्वास करने लगती है. ऐसी कई तस्वीरें जिले भर में देखने को मिल रही है. जिसमें कोरोना (Coronavirus) रोकने के लिए बाल्टी से हवन करने और हनुमान चालीसा पढ़ते हुए गलियों में हवन की बाल्टी लेकर धुआं करने के साथ ही कोरोना को ख़त्म करने के लिए हवन सामग्री का धुंआ गलियों और कॉलोनियों में किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan: बजरी को लेकर गहलोत सरकार ने दी बड़ी राहत, खनन के 3 पट्टे जारी

कोरोना को भगाने के लिए जिले भर में कई प्रकार के धार्मिक आयोजन किए जा रहे हैं. इन्हीं कार्यक्रमों की कड़ी में शहर के गायत्री परिवार सेवा संस्थान और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कोरोना से मुक्ति के लिए शहर के वातावरण का शुद्धिकरण व सभी के मंगल स्वास्थ्य की कामना के लिए घर घर हवन किया गया है. जिला मुख्यालय सहित जिले के सभी उपखंड मुख्यालयों पर गायत्री परिवार द्वारा कोरोना को खत्म करने हेतु घर घर हवन कर गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र की आहुतियां दी गई. जिले में पिछले दिनों भी गोढड़ा माता की भविष्यवाणी के आधार पर गांवों में ग्रामीणों ने गांव को खाली कर गांव के बाहर हवन पूजन कर शुद्ध जल का छिड़काव किया था.

कोरोना को भगाने के लिए राष्ट्रीय सेवक संघ (RSS) द्वारा जिले भर में चलित हवन भी किया जा रहा है. पूरे नगर में हवन की आहुति के द्वारा शुद्धिकरण किया जा रहा है. नगर के लगभग सभी मंदिर और देव स्थान पर चलित हवन कुंड के द्वारा आहुति दी जा रही है. 

यह भी पढ़ें- Vaccine बर्बादी के मामले में Jharkhand-Chhattisgarh से पीछे है Rajasthan, पढ़ें आंकड़े