भरतपुर: चाचा-भतीजे निकले थे शादी का कार्ड बांटने, सड़क किनारे कुएं में मिले शव

भरतपुर के बयाना थाना क्षेत्र के गांव नगला पुरोहित निवासी चाचा किशन और भतीजे बब्बन के शव बुधवार सुबह वैर रोड पर सड़क किनारे कुए में पड़े मिले हैं.

भरतपुर: चाचा-भतीजे निकले थे शादी का कार्ड बांटने, सड़क किनारे कुएं में मिले शव
परिजनों ने बताया कि कुछ लोगों ने परिजनों को बब्बन की शादी नहीं होने की धमकी दी थी.

देवेंद्र सिंह, भरतपुर: जिले के बयाना थाना क्षेत्र के गांव नगला पुरोहित निवासी चाचा-भतीजे के शव बुधवार सुबह वैर रोड किनारे कुए में पड़े मिले हैं. दोनों चाचा-भतीजे शादी का कार्ड बांटने के लिए एक फरवरी को गए थे, उसके बाद से वह लापता थे.

भरतपुर के बयाना थाना क्षेत्र के गांव नगला पुरोहित निवासी चाचा किशन और भतीजे बब्बन के शव बुधवार सुबह वैर रोड पर सड़क किनारे कुए में पड़े मिले हैं. देर रात खेतों में पानी देने गए किसानों को जब कुएं में से बदबू आई तो टॉर्च से अंदर देखा तो शव दिखाई दिए, जिस पर पुलिस को सूचना दी. 

पुलिस ने सुबह बयाना से सफाईकर्मी और क्रेन मंगवा कर शवों को बाहर निकलवाया. दोनों की शिनाख्त एक फरवरी से लापता चल रहे चाचा किशन और भतीजे बब्बन के रूप में हुई है. परिजन हत्या की आंशका जता रहे हैं.

मोर्चरी में रखवाए शव
पुलिस ने शवों को बयाना अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है. इसमें भतीजे बब्बन की 16 फरवरी को शादी होनी थी लेकिन लापता होने के चलते शादी टल गई. मामले में परिजनों ने गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज कराई थी. सूचना पर मौके पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेश खींची, बयाना सीओ खींव सिंह समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए. 

भतीजे बब्बन की मां फूलवती ने दर्ज कराई रिपोर्ट
वहीं, एफएसएल टीम ने भी मौके पर जांच कर साक्ष्य उठाए. पुलिस की प्रारम्भिक जांच में हादसा माना जा रहा है. जिस स्थान पर दोनों के शव मिले हैं, वहां बगल से ही सड़क है. पुलिस को आशंका है कि अचानक से किसी वाहन के आने पर संतुलन बिगड़ गया और दोनों बाइक समेत सड़क किनारे मोड़ पर स्थित कुएं में जा गिरे. हादसे की किसी को जानकारी नहीं होने से पुलिस को भी मालूम नहीं चल पाया. कुएं में बाइक भी मिली है हालांकि, पुलिस अभी तक किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंची है. घटना के संबंध में भतीजे बब्बन की मां फूलवती ने दर्ज कराई है.

परिजनों ने थाने में गुमशुदी की रिपोर्ट दर्ज कराई
चाचा-भतीजे शादी का कार्ड बांटने के लिए एक फरवरी को गए थे, उसके बाद से वह लापता है. मामले को लेकर सोमवार को गुस्साए परिजन और सैकड़ों लोगों ने गत दिनों यहां पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय पर प्रदर्शन किया और पुलिस के खिलाफ नारे लगाए. सीओ ने बाद में लोगों को दोनों को जल्द बरामद करने का भरोसा दिया है. गांव नगला पुरोहित निवासी भतीजे बब्बन जाटव की 16 फरवरी को शादी होनी थी, जिसके शादी के कार्ड बांटने 1 फरवरी को स्वयं दूल्हा बब्बन और उसके चाचा किशन जाटव गए हुए थे. रात तक उनके घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने आस-पास के रिश्तेदार और अन्य स्थान पर तलाश किया लेकिन कोई सुराग नहीं लगा. जिस पर परिजनों ने बाद में थाने में गुमशुदी की रिपोर्ट दर्ज कराई.

बब्बन की शादी नहीं होने की धमकी दी थी
परिजनों ने बताया कि कुछ लोगों ने परिजनों को बब्बन की शादी नहीं होने की धमकी दी थी. इसकी जानकारी पुलिस को परिजन बता चुके हैं लेकिन पुलिस अभी संदेह जताते वालों लोगों तक पूछताछ तक नहीं कर पाई है. उधर, चाचा-भतीजे अंतिम दफा भुसावर स्टेट हाई-वे के टोल फुटेज में नजर आए थे और उसी दिन शाम 6.30 बजे से उनके मोबाइल स्विच ऑफ हैं. अंतिम मोबाइल लोकेशन वैर थाना क्षेत्र की सुहास के आसपास मिली थी.