close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मरुधरा के इस गांव में पर्यावरण संरक्षण के लिए की गई अनूठी पहल, हो रही सराहना

राजस्थान के इस गांव के लोगों ने बंजर जमीन को हरा-भरा करने के लिए एक अभियान छेड़ा है.

मरुधरा के इस गांव में पर्यावरण संरक्षण के लिए की गई अनूठी पहल, हो रही सराहना
इस काम के लिए ग्रामीणों ने सरकार से कोई सहयोग नहीं लिया.

अलवर: इस बार बारिश के सीजन में पर्यावरण संरक्षण के लिए दो अहम पहल मरुधरा के निवासी कर रहे हैं. एक बारिश के पानी को रोक कर ग्राउंड वॉटर लेवल में इजाफे की और दूसरी मानसूनी सीजन में वृक्षारोपण कर हरियाली पनपाने की. 

अलवर जिले के गांव जखराना के लोगों ने भी इस बारिश में एक संकल्प लिया है. इसको लेकर ना केवल वर्षों पुराने पानी के तालाब में पानी के रास्ते की रुकावटों को हटाया हैं, साथ थी खेताड़ा जोहड़ की बगीची में पौधरोपण किया है. 

बंजर जमीन को बनाया हरित
अलवर जिले की बहरोड़ तहसील के गांव जखराना के युवाओं ने अपने गांव की इस बंजर जमीन को हरा भरा बनाने की मुहिम छेड़ी. मानसून से ठीक पहले की गई शुरुआत अब रंग दिखाने लगी है. ग्रामीणों ने अपनी जमा पूंजी खर्च कर इस क्षेत्र में सघन वृक्षारोपण किया है. इस दौरान तालाब के भराव क्षेत्र में आने वाले तमाम अवरोधों को भी हटाया है.

खुद से की शुरूआत
इसकी खास बात यह है कि इस पूरे काम के लिए सरकारी मदद नहीं अपनी गांठ का पैसा ग्रामीणों ने खर्च किया है. यह पहल युवाओं के साथ शुरू हुई, जिसमें एक-एक कर ग्रामीण जुड़ते गए. इस दौरान सोमवार को खेतड़ा जोहड़ में सघन वृक्षारोपण किया गया. जिसमें बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने भाग लेकर अपने अपने नाम से वृक्ष रोपे.

पूरे प्रदेश को देती है प्रेरणा
जखराना गांव के ग्रामीणों की यह पहल मरुधरा के दूसरे गांवों में रहने वाले लोगों को भी प्रेरणा देती है. ताकि आने वाले कल में स्वच्छ वातावरण और शुद्ध हवा हमारी अगली पीढ़ी को मिल सके.