Ajmer में इस बार नहीं सजेगा Urs का मेला, जायरीनों से नहीं आने की अपील

कोविड-19 महामारी (Coronavirus) के चलते विश्व प्रसिद्ध ख्वाजा गरीब नवाज (Khwaja Garib Nawaz Dargah ) के उर्स (Urs) के दौरान होने वाले मेले का आयोजन इस वर्ष नहीं होगा. 

Ajmer में इस बार नहीं सजेगा Urs का मेला, जायरीनों से नहीं आने की अपील
प्रतीकात्मक तस्वीर

अजमेर: कोविड-19 महामारी (Coronavirus) के चलते विश्व प्रसिद्ध ख्वाजा गरीब नवाज (Khwaja Garib Nawaz Dargah ) के उर्स (Urs) के दौरान होने वाले मेले का आयोजन इस वर्ष नहीं होगा. जिला पुलिस प्रशासन की ओर से आज उर्स के दौरान कोविड-19 की पालना किस तरह से हो इसे लेकर बैठक आयोजित की गई. दरगाह कमेटी सहित विभिन्न संस्थाओं के साथ खादिम समुदाय को भी जायरीन को नहीं आने की अपील करने के लिए निर्देश दिए गए.

अजमेर की प्रसिद्ध ख्वाजा गरीब नवाज की सालाना उर्स (Khwaja Garib Nawaz Urs 2021) को लेकर दरगाह कमेटी व अन्य सामाजिक संस्थाएं माकूल व्यवस्था में जुटी है तो वहीं जिला पुलिस प्रशासन मेले में कम से कम लोग पहुंचे और कोविड-19 की पालना सुनिश्चित हो इस लेकर लगातार प्रयास किया जा रहा है. आज उर्स की विभिन्न व्यवस्थाओं को लेकर जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित एसपी जगदीश चंद्र की सदारत में बैठक आयोजित की गई. इस बैठक में दरगाह कमेटी की पदाधिकारी अंजुमन की पदाधिकारी दरगाह दीवान के प्रतिनिधि के रूप में उनके बेटे और तमाम प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे. 

इस बैठक में सभी को हिदायत दी गई कि सरकार की ओर से धारा 144 लगाई गई जो कि आगामी महीने तक जारी रहेगी. ऐसे में उर्स मेले का आयोजन नहीं किया जा सकता, लेकिन इसके बावजूद भी अगर इस मेले में कोई हरकत करता है तो उन्हें भी समझाइए की जाएगी. इस बात को लेकर दरगाह की विभिन्न संस्थाओं द्वारा जिला प्रशासन पर इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है. उन्होंने कहा कि सभी से अपील की जा रही है, लेकिन इसके बावजूद भी कई लोग दरगाह में पहुंचेंगे और वह हर वर्ष यहां पहुंचते हैं जिन्हें रोकना मुश्किल है. 

अजमेर में ऐसा पहला मौका होगा जब विश्व प्रसिद्ध उर्स मिली का आयोजन नहीं हो पाएगा. इस मेले में लाखों की संख्या में जायरीन पहुंचते हैं. इसे लेकर व्यापक इंतजाम किए जाते रहे हैं, लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते इन सभी व्यवस्थाओं पर पाबंदी लगा दी गई है. अब जिला पुलिस प्रशासन के साथ ही दरगाह कमेटी अंजुमन कमेटी के साथ विभिन्न खादिम समुदाय द्वारा अपील की जानी है कि वह आम जारी कम से कम पहुंचे इसके लिए अपील करें.

ये भी पढ़ें: इस लड़की के साथ 'ऊदल सिंह' बनकर Maharashtra के कोल्हापुर में छिपा था 'पपला गुर्जर'!