VIDEO: पोखरण में वायु शक्‍त‍ि 2019 से इंडियन एयरफोर्स ने दुश्‍मन को दिखाई अपनी ताकत

वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा, युद्धाभ्‍यास में हमने अपनी ताकत दिखाई है. हमारा दुश्‍मन इस बात को अच्‍छी तरह से जानता है कि वह हमें युद्ध में कभी नहीं हरा सकता.

VIDEO: पोखरण में वायु शक्‍त‍ि 2019 से इंडियन एयरफोर्स ने दुश्‍मन को दिखाई अपनी ताकत

पोखरण: पुलवामा के आंतकी हमले के दो दिन बाद राजस्‍थान के पोखरण रेंज में भारतीय वायुसेना ने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया. वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा, युद्धाभ्‍यास में हमने अपनी ताकत दिखाई है. हमारा दुश्‍मन इस बात को अच्‍छी तरह से जानता है कि वह हमें युद्ध में कभी नहीं हरा सकता.

वायु शक्‍त‍ि के अंतर्गत हुए इस युद्धाभ्‍यास में वायुसेना के एयरक्राफ्ट्स ने अपनी ताकत और मारक क्षमता का प्रदर्शन किया. आसमान में कुलांचे भरते एयरक्राफ्ट्स ने अपने युद्धकौशल का परिचय देते हुए दिखा दिया कि वह चंद पलों में दुश्‍मन को खाक में मिला सकते हैं. वायुशक्ति अभ्यास के दौरान वायुसेना ने हल्के लड़ाकू विमान तेजस, उन्नत हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर जैसे देशी जंगी वायुयानों की मारक क्षमता एवं सतह से हवा में मार करने वाली आकाश एवं हवा से हवा में मार करने वाली अस्त्र मिसाइल की प्रभावकारिता का प्रदर्शन किया.

जैसलमेर के पोखरण में वायुसेना ने 'वायुशक्ति-2019' का आयोजन किया. इसमें एयरफोर्स के 130 से ज्यादा फाइटर, ट्रांसपॉर्ट एयरक्राफ्ट और हेलिकॉप्टर्स ने हिस्सा लिया. लड़ाकू जेट और हेलीकॉप्टरों ने दिन और रात के दौरान अपने लक्ष्यों को भेदा. ऐसा पहली बार है कि उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर एवं आकाश को सैन्य अभ्यास में लगाया गया.

 वायुशक्‍ति 2019 में आकाश अस्त्र मिसाइलों के साथ जीपीएस और लेजर गाइडेड बम, राकेट लांचर का इस्तेमाल हुआ. इस अभ्‍यास में मिग-21 बाइसन, मिग-27, मिग-29 मिराज-2000, सुखोई-30 जैसे विमानों ने अपने रणनीतिक कौशल को दिखाया. अंत में एक समारोह में तिरंगे की छठा ने पूरे माहौल को देश भक्‍त‍ि से सराबोर कर दिया.

वायुसेना ने अभ्यास के दौरान हवा से जमीन की भूमिका में उन्नत मिग 29 लड़ाकू जेट को भी तैनात किया। सुखोई 30, मिराज 2000, जगुआर, मिग 21 बिसन, मिग 27, मिग 29, आईएल 78, हरकुलस, एएन 32 विमानों समेत 137 विमानों ने इस अभ्यास में हिस्सा लिया. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, विभिन्न देशों के रक्षा अताशों और रक्षा मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने भी इस अभ्यास का अवलोकन किया. इस मौके पर वायुसेना के मानद ग्रुप कप्तान महान क्रिक्रेटर सचिन तेंदुलकर भी मौजूद थे.

'वायुशक्ति' में स्वदेशी एयरक्राफ्ट वेपन और इक्विपमेंट ने भी अपनी ताकत दिखाई. इस अभ्यास में सुखोई-30, मिग-29, मिराज-2000, जगुआर, मिग-27 जैसे फ्रंटलाइन फाइटर एयक्राफ्ट तो शामिल हुए ही, साथ ही स्वदेशी तेजस और अडवांस लाइट हेलिकॉप्टर रुद्र ने भी फायरिंग में हिस्सा लिया.