निकाय चुनाव 2019: पाली में मतदान की तैयारियां पूरी, प्रचार पर लगी रोक

अंतिम प्रशिक्षण के दौरान ईवीएम, मतदान सामग्री, पीओएल, भंडार सामग्री आकस्मिक व्यय वाहनों और पुलिस बल का आंवटन किया जाएगा.  

निकाय चुनाव 2019: पाली में मतदान की तैयारियां पूरी, प्रचार पर लगी रोक
प्रतीकात्मक तस्वीर.

सुभाष रोहिसवाल, पाली: नगर पालिका आम चुनाव 2019 (Rajasthan Urban Body Elections 2019) के तहत पाली नगर परिषद सदस्य का 16 नवंबर को चुनाव होना है. 65 वार्डों के लिए मतदान को लेकर रिटर्निंग अधिकारी की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

रिटर्निंग अधिकारी नगर परिषद पाली एवं उपखंड अधिकारी पाली रोहिताश्व सिंह तोमर ने बताया कि परिषद सदस्य के मतदान को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. जिला मुख्यालय स्थित राजकीय विधि महाविद्यालय से इन मतदान दलों को अंतिम प्रशिक्षण देकर मतदान सामग्री के साथ मतदान स्थल के लिए आज रवाना किया जाएगा. उन्होंने बताया कि अंतिम प्रशिक्षण के दौरान ईवीएम, मतदान सामग्री, पीओएल, भंडार सामग्री आकस्मिक व्यय वाहनों और पुलिस बल का आंवटन किया जाएगा.

मतदलों को दी जाने वाली ईवीएम और अन्य प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए वार्ड अनुसार, कुल पांच काउंटर बनाए गए हैं, जिनमें स्ट्रांग रूम प्रभारी नायाब तहसीलदार ओमप्रकाश दाधीच और विशनमल भंडारी के माध्यम से ईवीएम का वितरण किया जाएगा.

शाम पांच बजे बाद प्रचार पर लगी रोक
रिटर्निंग अधिकारी नगर परिषद पाली एवं उपखंड अधिकारी पाली रोहिताश्व सिंह तोमर ने बताया कि पाली नगर परिषद सदस्य के 16 नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर गुरुवार को शाम पांच बजे बाद प्रचार-प्रसार पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई. इसके तहत कोई भी प्रत्याशी किसी भी प्रकार की रैली, भोपूं प्रचार, वाहन रैली का आयोजन नहीं करेंगे. यदि ऐसा करता कोई पाया गया तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में ली जाएगी. उन्होने सभी प्रत्याशियों को आदर्श आचार संहिता का पालन करने के निर्देश दिए हैं.

अस्थायी बूथ बना सकता है प्रत्याशी
मतदान के दिन मतदान केंद्र से 200 मीटर की परिधि में पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा. इस परिधि में किसी प्रकार का प्रचार-प्रसार नहीं किया जाएगा. वहीं प्रत्याशी इस परिधि से बाहर एक अस्थायी बूथ बना सकता है, जहां एक टेबल दो कुर्सी, दो गुणा पांच आकार का एक बैनर लगा सकता है लेकिन इस बैनर पर किसी राजनैतिक दल के नेता या अभ्यर्थी का चित्र/फोटो/चुनाव चिन्ह/नारा प्रदर्शित नहीं करेगा. इस आदेश की अवमानना करने पर प्रत्याशी के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में ली जाएगी.

रिटर्निंग अधिकारी ने बताया कि 16 नवंबर को मतदान के दिन यदि मतदान केंद्र पर ईवीएम में किसी प्रकार की तकनीकी खराबी होने पर रिजर्व ईवीएम संबधित मतदान दलों को 35 से 45 मिनट में उपलब्ध करवाकर मतदान पुन: सुचारू करवा दिया जाएगा.