close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में पानी की किल्लत, राज्य के 95 प्रतिशत बांध 100 फीसदी सूखे

राजस्थान में इस बार मानसून अच्छा नहीं रहा तो और भी ज्यादा हालात खराब होने में देर नहीं लगेगी.  

राजस्थान में पानी की किल्लत, राज्य के 95 प्रतिशत बांध 100 फीसदी सूखे
95 फीसदी बांध पूरी तरह से सूख चुके हैं, जिसमें से 22 प्रमुख बांधों में से 9 बांधों की स्थिति भी कुछ ऐसी ही दिखाई देती है.

जयपुर: राजस्थान के 95 प्रतिशत बांध 100 फीसदी सूख चुके हैं. प्रदेश के 830 बांधों में से 761 बांध पूरी तरह से सूख चुके है. जल संसाधान विभाग के आकंड़ों में ये चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है. इस रिपोर्ट से ये साफ हो गया है कि राजस्थान की मिट्टी की प्यास लगातार बढ़ती जा रही है.

राजस्थान में पानी की एक-एक बूंद की कीमत क्या होती है, यह बांधों की तस्वीर देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है, क्योंकि राजस्थान के महज 5 फीसदी बांध ही ऐसे है जो मरूधरा की प्यास बुझा रहे हैं. 95 फीसदी बांध पूरी तरह से सूख चुके हैं, जिसमें से 22 प्रमुख बांधों में से 9 बांधों की स्थिति भी कुछ ऐसी ही दिखाई देती है.

22 में से 13 बड़े बांधों में ही पानी है, जिसमें से राणा प्रताप सागर, कोटा बैराज, माही बजाज सागर में पानी है, लेकिन जयपुर समेत चार जिलों की लाइफलाइन कहा जाने वाला बीसलपुर बांध सूखने की कगार पर है. बीलसपुर डैम में सिर्फ 7.80 फीसदी पानी की बचा है. इसके अलावा अजमेर संभाग के बांधों में 5 प्रतिशत, अलवर में 3 फीसदी, भरतपुर में 6 प्रतिशत, दोसा के 0, जयपुर के बांधों में केवल 6 फीसदी पानी ही बचा है. ऐसे में राजस्थान में इस बार मानसून अच्छा नहीं रहा तो और भी ज्यादा हालात खराब होने में देर नहीं लगेगी.  

प्रमुख बांधों की स्थिति, जो बुझा रहे प्रदेश की प्यास

जिला                  बांध                कितना फीसदी पानी
चितौडगढ       राणा प्रताप सागर             61 फीसदी
कोटा             कोटा बैराज                      96.39
बांसवाडा        माही बजाज सागर             786.78
कोटा              जवाहर सागर                   78.47 
बांसवाडा         हारो बांध                        16.11
बूंदी                गुढा बांध                          5.81