close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: मुख्यमंत्री आवास समेत सभी नेताओं के आवासों में होगी पानी की कटौती

वीवीआईपी आवासों में पिछले 52 साल से 24 घंटे पानी की सप्लाई की जा रही थी लेकिन बीलसपुर बांध में पानी की कम आवक के चलते शहर में पानी की किल्लत होने लगी

राजस्थान: मुख्यमंत्री आवास समेत सभी नेताओं के आवासों में होगी पानी की कटौती
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: पानी की किल्लत का असर अब आम से लेकर खास तक पर पड़ने लगा है. बीसलपुर बांध में पानी की कमी के चलते अब तक शहरवासी पेयजल किल्लत से जूझ रहे थे लेकिन अब सरकारी तंत्र पर भी पानी की कमी का असर देखा जा रहा है. पानी की कमी को देखते हुए अब पीएचईडी ने सिविल लाइन के वीवीआईपी बंगलों की पेयजल आपूर्ति में भी कटौती करना शुरू कर दिया है. यानि अब मुख्यमंत्री आवास, राज्यपाल, पूर्व मुख्यमंत्री के साथ तमाम मंत्रियों के बंगले में भी पानी की कटौती की जा रही है.

राजस्थान के में पहली बार मुख्यमंत्री आवास, राजभवन और पूर्व मुख्यमंत्री के बंगलों में पानी की कटौती की जा रही है. पानी की कमी को देखते हुए मुख्यमंत्री की स्वीकृति के बाद जलदाय विभाग ने ये फैसला लिया है. जिसमें तमाम मंत्रियों के सरकारी बंगले में भी पानी की कटौती की जा रही है. 

इन वीवीआईपी आवासों में पिछले 52 साल से 24 घंटे पानी की सप्लाई की जा रही थी लेकिन बीलसपुर बांध में पानी की कम आवक के चलते शहर में पानी की किल्लत होने लगी, जिसके बाद अब इन खास आवासों में रात में पेयजल आपूर्ति में कटौती करके 24 घंटे की बजाय सिर्फ 16 घंटे ही आपूर्ति की जा रही है. जलदाय विभाग के एडिशनल चीफ इंजीनियर देवराज सोलंकी का कहना है कि बीसलपुर बांध में केवल 15 फीसदी पानी ही बचा है. ऐसे में पानी की किल्लत को लेकर ये फैसला लिया गया है.

पीएचईडी के मुताबिक सिविल लाइन्स के वीवीआईपी बंगलों में 1967 से 24 घंटे पानी की आपूर्ति की जा रही थी लेकिन पानी की कमी को देखते हुए पीएचईडी ने इन बंगलों की पेयजल आपूर्ति में कटौती की गई है. यह कटौती रात को 9 बजे से सुबह 5 बजे तक के लिए की गई है. बाकी समय में इन वीवीआईपी आवासों में निरंतर पेयजल आपूर्ति बनी रहेगी. वीवीआईपी एरिया में आठ घंटे की कटौती से करीब ढाई लाख लीटर पानी की बचत की जा रही है. खास लोगों के हिस्से के पानी को आम लोगों को वितरित किया जा रहा है. ताकि आम लोगों को पानी की दिक्कत ना हो सके.

सिविल लाइंस में ये है पानी का गणित
सिविल लाइंस एरिया में 63 वीवीआईपी बंगले हैं. इनके अलावा वीवीआईपी के अलावा 1600 परिवारों की जरूरत पड़ती है. इसमें से करीब 700 पुलिसकर्मी, 400 स्टाफकर्मी और 500 विजिर्टस पानी पीते है. रोजाना 40 लाख लीटर सिविल लाइंस में पानी की आपूर्ति होती है. जिसमें से 36 लाख लीटर बीसलपुर से सप्लाई होता है. 4 लाख लीटर पानी ट्यूबवेल के जरिए लिया जाता है. 2250 कनेक्शनों को कटौती से बचा पानी आम लोगों को वितरित हो सकेगा.