close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान के कई इलाकों में बारिश के बाद मौसम ने ली करवट, उमस बढ़ी

 करीब 1 घंटे तक हुई इस तेज मूसलाधार बारिश के चलते उदयपुर शहर में चारों तरफ सड़को पर पानी ही पानी भर गया. 

राजस्थान के कई इलाकों में बारिश के बाद मौसम ने ली करवट, उमस बढ़ी
जब बारिश हुई तो पानी सड़कों पर लबालब भर गया जिससे राहगीरों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई.

उदयपुर: प्रदेश के लेकसिटी उदयपुर में मंगलवार दोपहर बाद हुई अच्छी बारिश ने लोगों को चेहरे पर खुशी ला दी है. दरअसल पिछले कई समय से तापमापी के पारे में बढ़ोतरी के चलते लोगों को गर्मी से खासी परेशानी हो रही थी, लेकिन मंगलवार को हुई बारिश ने तापमापी के पारे में गिरावट कर दी. करीब 1 घंटे तक हुई इस तेज मूसलाधार बारिश के चलते उदयपुर शहर में चारों तरफ सड़को पर पानी ही पानी हो गया. 

वहीं बारिश की वजह से लोगों को तेज गर्मी से राहत तो जरूर महसूस हुई लेकिन इस तेज बारिश के चलते दुपहिया वाहन धारियों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा. साथ ही, अच्छी बरसात के बाद अब लोगों को उम्मीद है कि जल्द ही उदयपुर की रीती पड़ी झीलें लबालब होंगी.

जबकि दौसा में भी इंद्रदेव मेहरबान हुए और जमकर बारिश हुई. बारिश ने लोगों को गर्मी से राहत दी लेकिन बारिश के बाद लोग उमस से परेशान हो गए. वहीं मानसून की हुई प्री बारिश ने दौसा नगर परिषद की व्यवस्थाओं की भी पोल खोल के रख दी. कुछ दिन पहले जी मीडिया ने भी कचरे के ढ़ेर को लेकर खबर के माध्यम से दौसा जिला प्रशासन और नगर परिषद को भी चेताया था. लेकिन उसके बावजूद भी किसी ने ध्यान नहीं दिया. 

वहीं जब बारिश हुई तो पानी सड़कों पर लबालब भर गया. जिससे राहगीरों को चलने में मुश्किल का सामना करना पड़ा. बारिश से पहले नालों की सफाई कर दी जाती और कचरा साफ कर दिया जाता तो सड़कों के ये हालात नहीं होते लेकिन इस पर ना तो नगर परिषद प्रशासन ने ध्यान दिया और ना ही जिला प्रशासन ने. 

दौसा में हुई झमाझम बारिश ने दौसा की सड़कों को पूरी तरह लबालब कर दिया जिसके चलते कुछ देर के लिए यातायात भी ठप सा हो गया. वहीं पैदल चलने वाले राहगीरों को भी बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ा.