close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टोंक: बनाई गई मानव आकृतियां, बताया पढ़ाई में क्या है नाटकों का महत्व

टोंक जिले के पीपलू के लर्निंग रिसोर्स सेंटर पर ड्रामा इन एजुकेशन कार्यशाला आयोजित हुई.

टोंक: बनाई गई मानव आकृतियां, बताया पढ़ाई में क्या है नाटकों का महत्व
कार्यशाला में ड्रामा इन एजुकेशन पर चर्चा हुई. (प्रतीकात्मक फोटो)

पीपलू (टोंक): टोंक जिले के पीपलू के लर्निंग रिसोर्स सेंटर पर ड्रामा इन एजुकेशन कार्यशाला आयोजित हुई. इस कार्यशाला में कई गतिविधियों का आयोजन किया गया. इस दौरान नाट्य प्रक्रिया विविधता थीम पर शिक्षकों के साथ कई गतिविधियों का आयोजन कर कार्यशाला का आयोजन किया गया.

कार्यशाला में शिक्षकों के साथ ड्रामा इन एजुकेशन का उपयोग, अन्य विषय सीखने के माध्यम के रूप में और जीवन कौशल को विकसित करने के अवसर के रूप में इस्तेमाल पर बात-चीत और गतिविधियां आयोजित हुई.

कार्यशाला के दौरान प्रशिक्षक राजकुमार रजक, मीरा प्रभु, राकेश तिवाड़ी, देवेंद्र जोशी, राजेंद्र सिंह ने कला की आवश्यकता, कला का दैनिक जीवन में महत्व, कला नाट्य का शिक्षा में महत्व एवं कला के प्रकार पर भी विचार व्यक्त किए. जिसमें शिक्षकों के साथ अवधारणात्मक बातचीत हुई, वहीं इसको रूचिपूर्ण और नवाचारी बनाने के तरीकों पर काम किया गया.