कोटा: MBS अस्पताल में हर दिन आते हैं 6 नए कैंसर के मरीज, ये वजहें आई सामने

विश्व में होने वाली 6 मौतों में से 1 कैंसर से होती है. एक तिहाई कैंसर से होने वाली मौतों की वजह हमारी आदतें जैसे कि हमारा खानपान तंबाकू, शराब, शारीरिक निष्क्रियता, फल-सब्जियों का कम सेवन शामिल है. 

कोटा: MBS अस्पताल में हर दिन आते हैं 6 नए कैंसर के मरीज, ये वजहें आई सामने
विश्व में होने वाली 6 मौतों में से 1 कैंसर से होती है.

मुकेश सोनी, कोटा: 4 फरवरी को विश्व भर में कैंसर दिवस (Cancer Day) मनाया जाता है. इस बार की थीम 'आई एम एंड आई विल' है. डब्ल्यूएचओ (World Health Organization) के अनुसार, कैंसर विश्व में मृत्यु देने वाली दूसरी प्रमुख बीमारी है. 

विश्व में होने वाली 6 मौतों में से 1 कैंसर से होती है. एक तिहाई कैंसर से होने वाली मौतों की वजह हमारी आदतें जैसे कि हमारा खानपान तंबाकू, शराब, शारीरिक निष्क्रियता, फल-सब्जियों का कम सेवन शामिल है. 

संयम के साथ बढ़ती जागरूकता के कारण कोटा संभाग में भी कैंसर के मामले सामने आने लगे हैं. चिकित्सकों के मुताबिक, हाड़ौती में सर्वाधिक तंबाकू जनित कैंसर के रोगी पाए जाते हैं. इसमें मुंह का कैंसर हाड़ौती में 50 प्रतिशत से अधिक है. यहां की बात करें तो एमबीएस अस्पताल के कैंसर रोग विभाग में पिछले पांच साल में 10,800 कैंसर मरीज सामने आए हैं. इनमें हर साल 2200 और हर दिन में 6 नए मरीज सामने आ रहे हैं.

रोकथाम के लिए ठोस प्रयास नहीं 
एमबीएस अस्पताल (MBS Hospital) के कैंसर रोग विभागाध्यक्ष डॉ. आरके तंवर बताते हैं कि कैंसर जैसी बीमारी में 30 से 40 उम्र तक के युवा भी सामने आ रहे हैं. इनमें तंबाकू, सिगरेट, गुटखा व शराब के सेवन के कारण मामले बढ़ते जा रहे हैं. इसकी रोकथाम के लिए ठोस प्रयास नहीं हो रहे हैं हालांकि कोटा अब कैंसर रोग निदान के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ रहा है. यहां वह सब सुविधा उपलब्ध है, जो बड़े सेंटर्स पर होती है. 

आमजन हल्के में नहीं लें कैंसर को
आगे उन्होंने बताया कि अक्सर लोग नाक, उल्टी, दस्त, मूत्र में रक्त निकलने पर इसकी अनदेखी कर देते हैं. धीरे-धीरे यह बीमारी विकराल रूप ले लेती है. कई बार गांठ के रूप में उभर कर सामने आती है. इससे कैंसर जैसी बीमारी भी हो सकती है. इस कारण इसे आमजन हल्के में नहीं लें. शरीर में किसी भी हिस्से में रक्त निकले तो उसे समय रहते चिकित्सक को दिखाकर उपचार करवा लें.