राजस्थान: लॉकडाउन से मुक्तानंद नगर में छत पर योग की क्लास, योग दिवस पर दिखाएंगे दम

शरीर का वजन भी नियंत्रित रहे और मानसिक तनाव भी दूर किया जा सके. 

राजस्थान: लॉकडाउन से मुक्तानंद नगर में छत पर योग की क्लास, योग दिवस पर दिखाएंगे दम
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: राजधानी में मुक्तानंद नगर एक ऐसी कॉलोनी है, जहां के लोग कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान लॉकडाउन में लगातार योगाभ्यास कर अपने आप को स्वस्थ और निरोगी बनाने में लगे हुए हैं. कहीं बाहर नहीं जा कर सुबह छत पर सोशल दूरी को रखते हुए योग का अभ्यास नियमित करना ताकि शरीर तो रोग मुक्त रहे ही, मन भी भय मुक्त हो जाए. मानसिक शांति की प्राप्ति हो.

पतंजलि योग समिति के राजस्थान प्रभारी कुलभूषण बैराठी जो इस कॉलोनी के निवासी भी हैं, उनके द्वारा प्रतिदिन छत पर योग कक्षा का संचालन किया गया है. समीप ही अमरनाथ अस्पताल की डॉक्टर उषा द्वारा प्रतिदिन योगाभ्यास से पूर्व सभी साधकों के तापमान और बीपी की निशुल्क जांच की जाती है.

योग दिवस की तैयारियां भी की
उनके द्वारा सभी को सैनिटाइज भी किया जाता है ताकि योगाभ्यास भी हो और कोरोना से भी बचे रहें. शरीर का वजन भी नियंत्रित रहे और मानसिक तनाव भी दूर किया जा सके. अब सभी लोग कल 21 जून को मनाए जाने वाले छठे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की भी तैयारी कर रहे हैं. विगत 10 दिवस से सामान्य योग प्रोटोकॉल के अनुसार बैराठी एवं उनको सहयोग करने वाली  प्रीति शर्मा द्वारा प्रोटोकॉल अनुसार अभ्यास करवाया जा रहा  है.  

बैराठी और श्रीमती शर्मा द्वारा बताया गया कि योग तो संपूर्ण जीवन शैली है. योग नहीं है तो रोग है. इसलिए नियमित योगाभ्यास रोग को दूर करने के साथ-साथ शरीर को स्वस्थ बनाए रखता है. मानसिक संतुलन बनाए रखता है, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है ताकि प्रत्येक स्थिति का हम साहस के साथ सामना कर सकें.

वजन बढ़ा नहीं, बल्कि घटा है
जहां अधिकांश व्यक्तियों को लॉकडाउन के दौरान वजन बढ़ते हुए देखा गया, वहीं, इस कॉलोनी के लोगों द्वारा नियमित योगाभ्यास कर अपने वजन को नियंत्रित रखने के साथ-साथ शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य भी प्राप्त किया गया और भविष्य में भी नियमित योगाभ्यास करने का संकल्प लिया गया है.