close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलवामा हमलाः श्रीनगर पहुंचे राजनाथ सिंह, शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को कंधा देकर दी श्रद्धांजलि

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को हुए आत्मघाती आतंकवादी हमले में शहीद हुए 40 जवानों को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने श्रद्धांजलि दी. 

पुलवामा हमलाः श्रीनगर पहुंचे राजनाथ सिंह, शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को कंधा देकर दी श्रद्धांजलि
फोटो सौजन्य: ANI
Play

श्रीनगरः जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार को हुए आत्मघाती आतंकवादी हमले में शहीद हुए 40 जवानों को केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने श्रद्धांजलि दी. पुलवामा में हुए हमले का जायजा लेने पहुंचे राजनाथ सिंह ने पहले श्रीनगर में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक और सेना के नॉर्दर्न कमांड चीफ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह भी उनके साथ मौजूद रहे.

राजनाथ सिंह शहीदों को अर्पित की श्रद्धांजलि

 

 

 

आज ही पार्थिव शरीर को भेजा जाएगा घर
जम्‍मू-कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हुए बड़े आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के पार्थिव शरीर आज दोपहर को उनके घरों पर भेजे जाएंगे. सीआरपीएफ के आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि यह तय किया गया है कि जवानों के अंतिम क्रिया में बल की तरफ से डीआईजी या कमांडेंट स्‍तर के अधिकारी शामिल होंगे.

राजनीतिक दलों के साथ करेंगे बैठक
कश्मीर के हालातों का जायजा लेने के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को दिल्ली लौटेंगे. कयास लगाए जा रहे हैं कि घाटी के हालातों को जायजा लेने के बाद राजनाथ सिंह, सभी राजनैतिक दलों के साथ मिलकर बैठक कर सकते हैं, ताकि इस पर कोई बड़ा एक्शन लिया जा सके. 

पीएम मोदी ने दिया कड़ा संदेश
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकवादी हमले पर पड़ोसी देश पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आतंकी संगठन और उनके सरपरस्त बहुत बड़ी गलती कर गए हैं और इसके गुनाहगारों को उनके किये की सजा जरूर मिलेगी और उन्हें भारी कीमत चुकानी पड़ेगी.

जैश-ए-मोहम्मद ने ली हमले की जिम्मेदारी
गौरतलब है कि पुलवामा में गुरुवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें कम से कम 40 जवान शहीद हो गए जबकि कई गंभीर रूप से घायल हुए हैं.