राज्यसभा चुनाव: कांग्रेस को अहमद पटेल की जीत का भरोसा

कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि उसे मंगलवार के राज्यसभा चुनाव में गुजरात से पार्टी उम्मीदवार अहमद पटेल की जीत का पूरा भरोसा है, भले ही बीजेपी विधायकों को पैसे, सत्ता और धमकी के बल लुभाने की कोशिश क्यों न करे. कांग्रेस ने कहा, "बीजेपी गलत रास्ते अख्तियार कर गुजरात में अल्पमत वोट को बहुमत में बदलने की साजिश रच रही है."

राज्यसभा चुनाव: कांग्रेस को अहमद पटेल की जीत का भरोसा
सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव पटेल लगातार पांचवी बार राज्यसभा में जाने की कतार में हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि उसे मंगलवार के राज्यसभा चुनाव में गुजरात से पार्टी उम्मीदवार अहमद पटेल की जीत का पूरा भरोसा है, भले ही बीजेपी विधायकों को पैसे, सत्ता और धमकी के बल लुभाने की कोशिश क्यों न करे. कांग्रेस ने कहा, "बीजेपी गलत रास्ते अख्तियार कर गुजरात में अल्पमत वोट को बहुमत में बदलने की साजिश रच रही है."

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां संवाददाताओं से कहा, "वे जनाधार का अपमान करने के लिए सभी कोशिशें कर सकते हैं..लेकिन हमें पूरा भरोसा है कि अहमद पटेल जीतेंगे." सुरजेवाला ने कहा, "जनता ने उन्हें खारिज कर दिया है. यह विधानसभा चुनाव में साबित हो जाएगा. बीजेपी गुजरात में हार को लेकर चिंतित है, इसलिए वे राजनीति को नीचे गिराने की अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं."

उन्होंने कहा, "लेकिन वे (बीजेपी) चाहे जितनी साजिश रचें, कांग्रेस सच के रास्ते पर चलेगी और जीतेगी."एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने टिप्पणी की है कि उनकी पार्टी को गुजरात में अपने समर्थन को लेकर अभी निर्णय लेना है. इस बारे में पूछे जाने पर सुरजेवाला ने कहा, "जब एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है तो हम नहीं समझते कि हमें किसी अन्य नेता की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देनी चाहिए."

सुरजेवाला ने कहा, "कांग्रेस के विधायक और सहयोगी दलों के विधायक अहमद पटेल के पक्ष में वोट करेंगे." कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव पटेल लगातार पांचवी बार राज्यसभा में जाने की कतार में हैं. बीजेपी के तोड़फोड़ से बचाने के लिए गुजरात से बेंगलुरू भेजे गए कांग्रेस के 44 विधायक मंगलवार के मतदान से पूर्व सोमवार को गुजरात लौट आए हैं.

इन विधायकों को आनंद के पास स्थित निजानंद रेसॉर्ट में रखा गया है. ये सभी मंगलवार को मतदान में हिस्सा लेने सीधे गांधीनगर पहुंचेंगे. 182 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 57 विधायक थे, जिनमें से छह ने 26 जुलाई को पार्टी से इस्तीफा दे दिया और उनमें से तीन 28 जुलाई को बीजेपी में शामिल हो गए.

(इनपुट एजेंसी से भी)