राष्ट्रपति चुनावः जीत के बाद भावुक हुए रामनाथ कोविंद, गरीबों का हित है उनका लक्ष्य

राष्ट्रपति चुनावः जीत के बाद भावुक हुए रामनाथ कोविंद, गरीबों का हित है उनका लक्ष्य
राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद पहली प्रतिक्रिया देते हुए रामनाथ कोविंद (फोटोः एएनआई)

नई दिल्लीः  17 जुलाई को भारत के 14वें राष्ट्रपति के लिए हुए मतदान के नतीजों के लिए गुरुवार सुबह 11 बजे से संसद भवन में मतगणना शुरू हुई. नया राष्‍ट्रपति चुनने के लिए करीब 99 फीसदी मतदान हुआ था. मतगणना में कोविंद को 65.65 फीसदी वोट मिले, जबकि मीरा कुमार को करीब 34.35 फीसद मतदान मिले हैं. रामनाथ कोविंद को 7 लाख 2 हजार 44 वोट वैल्यू मिले. वहीं मीरा कुमार को 3 लाख 67 हजार 314 वोट वैल्यू मिले.

देश के 14वें राष्ट्रपति चुने गए रामनाथ कोविंद अपनी जीत पर भावुक नजर आए. मीडिया के सामने आए कोविंद ने कहा 'मैं आज बहुत भावुक हूं और मैं उन सभी का प्रतिनिधित्व करूंगा जो जीवित रहने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.' उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बनना मेरा लक्ष्य नहीं था.

मुझ पर भरोसा जताने के लिए सभी का आभारी हूं. उन्होंने कहा कि ये जिम्मेदारी दिए जाना देश के हर ऐसे व्यक्ति के लिए संदेश है जो ईमानदारी के साथ कर्तव्य का निर्वहन करता है. रामनाथ कोविंद ने कहा कि मैं भाग्यशाली हूं कि जिस पद की गरिमा डॉ राजेंद्र प्रसाद, डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन, एपीजे अब्दुल कलाम और प्रणब मुखर्जी जैसे लोगों ने बढ़ाई कोविंद ने उन्हें समर्थन देने के लिए सभी दलों का धन्यवाद, ये मेरे लिए भावुक पल है.

रामनाथ कोविंद बने देश के 14वें राष्ट्रपति, 25 को लेंगे शपथ

मेरा चयन लोकतंत्र की महानता का प्रतीक है. राष्ट्रपति के तौर पर चयन बड़ी जिम्मेदारी है." कोविंद ने ये भी कहा कि वे सर्वे भवंतु सुखिन: के सिद्धांत पर चलते हुए समाज के हर वर्ग के लिए काम करेंगे. रामनाथ कोविंद ने यूपीए प्रत्याशी मीरा कुमार को भी शुभकामनाएं दी.