सजा के बाद कैसे कटी राम रहीम की पहली रात, जेल में करना होगा यह काम

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दो साध्वियों के यौन शोषण मामले में सोमवार को 20 साल की सजा सुनाई गई. सजा मिलने के बाद राम रहीम की पहली रात जेल के बैरक में टहलते हुए कटी. वह सारी रात सो नहीं सका.

सजा के बाद कैसे कटी राम रहीम की पहली रात, जेल में करना होगा यह काम
डेरा प्रमुख से जेल में मजदूरी करवाई जा सकती है, लेकिन वह मजदूरी के लिए फिट है या नहीं इसकी जांच होगी. (प्रतीकात्मक चित्र)

नई दिल्ली : डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दो साध्वियों के यौन शोषण मामले में सोमवार को 20 साल की सजा सुनाई गई. सजा मिलने के बाद राम रहीम की पहली रात जेल के बैरक में टहलते हुए कटी. वह सारी रात सो नहीं सका. गुरमीत को खाने में 4 रोटी और सब्जी दी गई थी, लेकिन उसने सिर्फ आधी रोटी ही खाई. इसके अलावा राम रहीम को जेल में नया नंबर मिल गया है. राम रहीम को नया नंबर 8647 दिया गया है.  इतना ही नहीं डेरा सच्चा सौदा के चीफ रहते हुए अरबों की संपत्ति बनाने वाले राम रहीम को जेल में काम भी करना होगा. 

और पढ़ें : जज ने कहा, पीड़ित लड़कियां गुरमीत को भगवान मानती थीं, लेकिन उसने धोखा दिया

जेल में करना होगा काम

डेरा प्रमुख से जेल में मजदूरी करवाई जा सकती है, लेकिन वह मजदूरी के लिए फिट है या नहीं इसकी जांच होगी. अगर वह जांच में फिट नहीं पाए गए तो उन्हें चारपाई और कुर्सी बनाने का काम दिया जाएगा. बागवनी और बिस्कुट बनाने का काम भी दिया जा सकता है. ड्यूटी का समय सुबह 8 बजे से शाम 4 बजे है. 

और पढ़ें : मुझसे राम रहीम का मामला बंद करने के लिए कहा गया था: पूर्व सीबीआई अफसर

राम रहीम को 20 साल की सजा

बता दें कि डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार के दो मामलों में सोमवार को विशेष सीबीआई अदालत ने 10-10 साल की सजा सुनाई. इस तरह डेरा प्रमुख को 20 साल जेल में रहना होगा क्योंकि दोनो सजाएं एक के बाद एक चलेंगी. बचाव पक्ष के वकील एसके गर्ग नरवाना ने बताया कि विशेष सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह ने दोनों मामले में 10-10 साल के सश्रम कारावास सजा सुनाई. ये मामले साल 2002 के हैं. उन्होंने कहा कि ये दोनो सजाएं एक के बाद होंगी और डेरा प्रमुख को कुल 20 साल तक जेल में रहना होगा. राम रहीम सिंह पर दोनों मामले में 15-15 लाख रूपये का जुर्माना भी लगाया गया है. इनमें से 14-14 लाख रूपये की राशि दोनों पीड़िताओं को दी जाएगी जो इसी पंथ से जुड़ी हुई थीं.