चप्पल में चिप और ब्लूटूथ, नकल का ऐसा 'हाईटेक' जुगाड़ जानकर चकरा जाएगा दिमाग

राजस्थान में रविवार को राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET 2021) का आयोजन हुआ. बीकानेर में ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पल के जरिये नकल मामले में तीन रीट परीक्षार्थी सहित 6 को गिरफ्तार किया गया है.   

चप्पल में चिप और ब्लूटूथ, नकल का ऐसा 'हाईटेक' जुगाड़ जानकर चकरा जाएगा दिमाग
पुलिस गिरफ्त में शातिर.

बीकानेर: राजस्थान  (Rajasthan) में रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET) की परीक्षा हुई. इस दौरान कई नकलची भी पकड़े गए लेकिन बीकानेर में हाईटेक नकलची पुलिस के हाथ लगे. इन्होंने रीट एग्जाम (REET 2021) के दौरान नकल करने की ऐसी योजना बनाई कि पुलिस भी हैरान रह गई, हालांकि एग्जाम से पहले ही नकलची गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया.

चप्पल में लगा रखी थी चिप

राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) ने रविवार को राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET) से पूर्व तीन परीक्षार्थियों सहित 6 लोगों को ब्लूटूथ डिवाइस लगी चप्पल के जरिये नकल के मामले में गिरफ्तार किया. पुलिस ने बताया कि आरोपी परीक्षा में चप्पल में छिपे हुए ब्लूटूथ और चिप के जरिये नकल की योजना बना रहे थे. ये डिवाइस मोबाइल से कनेक्टेड थी.

6 लाख रखी कीमत

शुरुआती जांच में सामने आया है कि इन शातिरों ने पूरे प्रदेश में नकल का ये हाईटेक डिवाइस बेचा. फिलहाल पुलिस ने चप्पल खरीदने वाले 25 लोगों की पहचान कर ली है. कहा जा रहा है कि इस चप्पल की कीमत 6 लाख रुपये रखी गई. गंगाशहर थाना पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर रही है.

यह भी पढ़ें: UP चुनाव से पहले BJP की 'सोशल इंजीनियरिंग', योगी कैबिनेट में शामिल हुए 7 नए चेहरे

बस स्टैंड के पास से हुए गिरफ्तार

बीकानेर की पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने बताया कि ये लोग चप्पल में ब्लूटूथ डिवाइस लगाकर नकल कराने की कोशिश कर रहे थे. इस सिलसिले में त्रिलोक, ओमप्रकाश, मदन गोपाल, राम और किरण देवी को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है. उन्होंने बताया कि उनके कब्जे से मोबाइल सिम कार्ड, ब्लूटूथ डिवाइस और अन्य उपकरण भी बरामद किये गये हैं. सभी को परीक्षा शुरू होने से पूर्व गंगाशहर के नया बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार किया गया. 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.