close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रेलवे की उत्पादन इकाइयों के निजीकरण के प्रस्ताव से कर्मचारियों में आक्रोश, करेंगे आंदोलन

डॉ. एम राघवैया ने कहा कि रेलवे उतादन इकाइयों का कार्य निष्पादन गुणात्मक रुप से बेहतर है और लागतवार बहुत लाभप्रद है.

रेलवे की उत्पादन इकाइयों के निजीकरण के प्रस्ताव से कर्मचारियों में आक्रोश, करेंगे आंदोलन
फाइल फोटो

नई दिल्ली : एन एफ आई आर महामंत्री डॉ. एम राघवैया ने भारत सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि रेलवे उत्पादन इकाइयों को निगम बनाने और यात्री गाड़ियों को निजी व्यक्तियों को सौंपने का प्रयास रेलकर्मियों को विरोध करने और आंदोलन करने के लिए बाध्य करेगा. उन्होंने कहा, इन कदमों से भविष्य में निजीकरण को बढ़ावा मिलेगा. एन एफ आई आर ने रेल मंत्री से महासंघों के साथ पूर्व परामर्श के बिना मनमाने ढंग से निर्णय न लेने का आग्रह किया .

गुणात्मक रूप से बेहतर है इकाइयों का कार्य
डॉ. एम राघवैया ने कहा कि रेलवे उतादन इकाइयों का कार्य निष्पादन गुणात्मक रुप से बेहतर है और लागतवार बहुत लाभप्रद है. उन्होंने बताया कि रेलवे उत्पादन इकाइयों यानी चितरंजन लोकोमोटिव वक्र्सध्चितरंजन इंटीग्रल कोच फैक्टरी पैरंमबूर, डीजल लोको वक्र्स, वाराणसी, रेल व्हील फैक्टरी, बैंगलोर, रेल कोच फैक्टरी, कपूरथला और आधुनिक कोच फैक्टरी, रायबरेली ने निर्धारित लक्ष्यों को पार करते हुऐ पिछले पांच सालों में रोलिंग स्टॉक का उत्पादन किया है. 

यह भी पढ़ें : पानी की खाली बोतल के बदले Indian Railway देगा ₹ 5, बना रहा टी-शर्ट और टोपी

देखिए LIVE TV

एलएचबी कोच की उत्पादन लागत 2 करोड़ रुपये
राघवैया ने आगे बोलते हुए कहा कि रेलवे उत्पादन इकाई द्वारा निर्मित प्रत्येक एलएचबी कोच की उत्पादन लागत लगभग 2 करोड़ रुपये है, जबकि यदि उक्त कोच आयात किया जाता है तो इस पर 5 करोड़ रुपये खर्च होंगे. 

बताया मूखर्ता भरा फैसला
उन्होंने कहा, रेलवे उत्पादन इकाइयों का निगमीकरण करना मूर्खता होगी. सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम बीईएमएल डिब्बों का उत्पादन कर रहा है जिसकी लागत रेलवे उत्पादन इकाइयों द्वारा निर्मित डिब्बों की तुलना में काफी अधिक है. इन तथ्यों के अलावा, रेलवे उत्पादन इकाइयों में कार्यरत रेल कर्मचारियों के कौशल बेहतर हैं और वे रोलिंग स्टॉक के गुणवत्ता मानकों में सुधार लाने के लिए किसी भी नई प्रौद्योगिकी को अवशोषित करने में सक्षम हैं.