Breaking News

अलगावादियों के प्रदर्शनों को रोकने के लिए लगाया गया प्रतिबंध

पिछले एक महीने के दौरान घाटी के विभिन्न स्थानों में चोटी काटने की एक दर्जन से भी अधिक घटनाएं सामने आई हैं

अलगावादियों के प्रदर्शनों को रोकने के लिए लगाया गया प्रतिबंध
जम्‍मू-कश्‍मीर में पुलिसबल गश्‍त करते हुए (फाइल फोटो)

श्रीनगर: कश्मीर घाटी में चोटी काटने की बढ़ती घटनाओं के खिलाफ अलगावादियों द्वारा किऐ जाने वाले प्रदर्शनों को रोकने के लिए सोमवार को प्रशासन ने श्रीनगर के कुछ हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया. पुलिस के मुताबिक, खानयार, रैनावारी, नौहाट्टा, एम.आर.गंज, सफा कदल, मैसूमा और क्रालखुद में प्रतिबंध लगाए गए हैं. श्रीनगर और घाटी के अन्य प्रमुख शहरों और कस्बों में दुकानें, सार्वजनिक परिवहन और शैक्षणिक संस्थान बंद रहे. हालांकि, जिन स्थानों पर प्रतिबंध लागू नहीं किया गया, वहां निजी वाहनों की आवाजाही सामान्य रूप से हो रही है.

 

पिछले एक महीने के दौरान घाटी के विभिन्न स्थानों में चोटी काटने की एक दर्जन से भी अधिक घटनाएं सामने आई हैं, लेकिन अभी तक इनके लिए किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में शुक्रवार को भीड़ ने एक 70 वर्षीय बुजुर्ग को भूलवश चोटी काटने वाला समझकर उसकी हत्या कर दी. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "उनकी मौके पर ही मौत हो गई". कश्मीर घाटी में विभिन्न जगहों पर चोटी कटने की घटनाओं के मद्देनजर सजग भीड़ इन घटनाओं को रोकने के लिए निगरानी कर रही है.

 

लेकिन, अभी तक भीड़ ने चोटी काटने वाला समझकर सिर्फ बेकसूर लोगों को ही पीटा है.

(इनपुट आईएएनएस  से भी )