close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रेवाड़ी गैंगरेप: राष्ट्रीय महिला आयोग ने उठाए पुलिस की भूमिका पर सवाल

इस घटना के बाद तथ्यों की जांच के लिए आयोग का एक दल मौके पर गया था.

रेवाड़ी गैंगरेप: राष्ट्रीय महिला आयोग ने उठाए पुलिस की भूमिका पर सवाल
आयोग ने कहा कि पुलिस ने आरोपियों का पता लगाने एवं गिरफ्तार करने के लिए त्वरित कदम नहीं उठाया. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय महिला आयोग ने हरियाणा के रेवाड़ी में 19 वर्षीय स्कूली टॉपर लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि पुलिस ने आरोपियों का पता लगाने एवं गिरफ्तार करने के लिए त्वरित कदम नहीं उठाया. बता दें कि इस घटना के बाद तथ्यों की जांच के लिए आयोग का एक दल मौके पर गया था. इस दल ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. आयोग के दल की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘आरोपियों का पता लगाने और गिरफ्तार करने के लिए त्वरित कदम उठाने में पुलिस ने देरी की.’’ 

घटनास्थल को नहीं किया गया सील- राष्ट्रीय महिला आयोग
महिला आयोग के दल ने यह भी कहा, ‘‘जब हम मौके पर पहुंचे, तो पाया कि घटनास्थल को सील नहीं किया गया. यह सबूत मिटाने जैसा है. बहरहाल, जब मामला एसआईटी के समक्ष उठाया गया, तो सूचित किया गया कि फोरेंसिक टीम पहले ही नमूने एकत्र कर चुकी है.’’ आयोग के दल के मुताबिक लड़की के माता-पिता ने बताया कि लड़की सिर्फ तीन आरोपियों की पहचान कर सकी है, लेकिन इस अपराध में 10-12 लोग शामिल हो सकते हैं.

क्या है पूरा मामला
हरियाणा के रेवाड़ी में सीबीएसई की टॉपर एक छात्रा का 12 सितंबर को अपहरण कर लिया गया था. उसे नशीला पदार्थ पिलाकर महेंद्रगढ़ के एक गांव के ट्यूबवेल के कमरे में तीन लड़कों ने उसके साथ गैंगरेप किया था. रेप करने के बाद आरोपी उसे कनीना के जंगलों में छोड़कर फरार हो गए थे. इस मामले में 8 टीमें बनाकर आरोपियों की धरपकड़ के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. एसआईटी ने मुख्य आरोपी नीशू समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. दो अन्य मुख्य आरोपी अभी भी फरार हैं.

(इनपुट भाषा से)