सामान्य वर्ग आरक्षण विधेयक पर बहस के दौरान RJD सांसद ने राज्यसभा में लहराया झुनझुना

आरजेडी सदस्य ने कहा कि यह झुनझुना हिलता भी है और बजता भी है. किंतु सरकार आरक्षण के नाम पर जो झुनझुना दिखा रही है वह केवल हिलता है, बजता नहीं है.

सामान्य वर्ग आरक्षण विधेयक पर बहस के दौरान RJD सांसद ने राज्यसभा में लहराया झुनझुना
आरजेडी सांसद मनोज झा झुनझुना दिखाते हुए

नई दिल्ली: राज्यसभा में बुधवार को उस समय एक अप्रत्याशित नजारा देखने को मिला जब आरजेडी के मनोज झा ने सामान्य वर्ग को रोजगार एवं शिक्षा में आरक्षण देने संबंधी संविधान संशोधन विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए एक ‘झुनझुना’ दिखाया.

झा ने संविधान (124वां संशोधन) विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए दावा किया कि इस विधेयक के जरिए सामान्य वर्ग को महज एक झुनझुना दिखाया जा रहा है. इसके बाद उन्होंने अपने पास से एक झुनझुना निकाल कर दिखाया. आरजेडी सदस्य ने कहा कि यह झुनझुना हिलता भी है और बजता भी है. किंतु सरकार आरक्षण के नाम पर जो झुनझुना दिखा रही है वह केवल हिलता है, बजता नहीं है.

अन्नाद्रमुक का आरक्षण संबंधी विधेयक के विरोध में सदन से वाकआउट
वहीं आर्थिक आधार पर सामान्य वर्ग को आरक्षण देने संबंधी संविधान 124वें संशोधन विधेयक पर राज्यसभा में बुधवार को चर्चा के दौरान अन्नाद्रमुक सदस्यों ने इस विधेयक को ‘असंवैधानिक'’ बताते हुये सदन से बहिर्गमन किया. 

अन्नाद्रमुक के सदस्य ए नवनीत कृष्णन ने विधेयक पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए विधेयक का विरोध किया. उन्होंने कहा कि इस विधेयक के प्रावधान संविधान के मौलिक ढांचे के सिद्धांत के विरुद्ध हैं, इसलिये यह विधेयक असंवैधानिक है. 

कृष्णन ने कहा कि इस विधेयक के कानून बनने के बाद न्यायिक समीक्षा की कसौटी पर इसका विफल साबित होना तय है. उन्होंने कहा, 'ऐसे विधेयक का समर्थन करना न्यायोचित नहीं है इसलिये हमारे दल के सदस्य सदन से ‘वॉकआउट’ करते हैं.' इसके बाद अन्नाद्रमुक के सभी सदस्य सदन से बाहर चले गए.

(इनपुट - भाषा)