close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RSS नेता इंद्रेश कुमार बोले, 'लोग एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करेंगे तो रुकेगी लिंचिंग'

इंद्रेश कुमार ने कहा, 'मेरी देशवासियों से अपील है कि वह भारत को समृद्ध बनाने के लिए साथ आएं और सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रख इसे शांति एवं प्रेम का डेरा बनाएं.' 

RSS नेता इंद्रेश कुमार बोले, 'लोग एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करेंगे तो रुकेगी लिंचिंग'
आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार (फाइल फोटो)

जम्मू : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता इंद्रेश कुमार ने बुधवार को कहा कि गाय के नाम पर लोगों की पीट - पीटकर हत्या (लिंचिंग) किए जाने के मामले बहुत जल्द सुलझ सकते हैं अगर देश के लोग एक - दूसरे की भावनाओं का सम्मान करें और नेता वोट बैंक के लिए इस स्थिति को भुनाने से बचें. 

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को शांति और विकास स्थापित करने के लिए भारत के साथ लगने वाली सीमाओं को 'हिंसा और सेना मुक्त' बनाने की दिशा में काम करना चाहिए. साथ ही उन्होंने भरोसा जताया कि जम्मू - कश्मीर के लोग राज्य को विनाश की राह से लौटाने के लिए 'राष्ट्र सर्वप्रथम और राष्ट्र ही अंतिम' दृष्टिकोण को अपनाएंगे. 

‘विजय दिवस’ के मौके पर कारगिल के शहीदों को श्रद्धांजलि देने आए कुमार ने कहा, 'मेरी देशवासियों से अपील है कि वह भारत को समृद्ध बनाने के लिए साथ आएं और सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रख इसे शांति एवं प्रेम का डेरा बनाएं.' 

बता दें इससे पहले आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने भीड़ द्वारा पीट - पीटकर हत्या करने की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा था कि अगर गाय का मांस खाने की प्रथा बंद हो जाए तो ‘शैतान’ के कई ऐसे अपराध खत्म हो सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘अगर गौ मांस खाने की प्रथा रुक जाए तो ‘शैतान’ के कई ऐसे अपराध बंद हो सकते हैं.' आरएसएस नेता ने कहा कि किसी भी धर्म में गाय की हत्या करने की अनुमति नहीं दी गई है.

इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश पर हाल ही में हुए हमले की निंदा करते हुए कुमार ने कहा कि किसी को भी दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का अधिकार नहीं है. गौरतलब है कि कथित तौर पर भाजपा से जुड़े युवा समूहों के सदस्यों ने 17 जुलाई को झारखंड के पाकुड़ में अग्निवेश की पिटाई कर दी थी. उन्होंने अग्निवेश पर हिंदुओं के खिलाफ बोलने का आरोप लगाया. 

आरएसएस की कार्यकारिणी समिति के सदस्य कुमार ने कहा,‘यह गलत और निंदनीय है. लेकिन किसी को भी अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर दूसरों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का हक नहीं है.’ उन्होंने कहा कि धार्मिक विश्वास को ठेस पहुंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है. देश के विभिन्न हिस्सों में भीड़ द्वारा पीट - पीटकर हत्या करने पर कुमार ने कहा, ‘भीड़ द्वारा पीट - पीटकर हत्या करने की कोई भी घटना निंदनीय है.’ 

(इनपुट - भाषा)